खारतूम। सूडान के सत्ता से हटाए गए सैन्य शासक उमर अल-बशीर को सोमवार को भ्रष्टाचार के मुकदमे में सुनवाई के लिए अदालत में पेश किया गया। 30 साल तक देश पर शासन करने वाले 75 साल के बशीर पर भ्रष्टाचार के अलावा विदेशी मुद्रा जमा करने और गैरकानूनी तरीके से तोहफे लेने के आरोप हैं। इस साल अप्रैल में सत्ता से हटाए जाने के बाद बशीर के आवास पर मारे गए छापे में 11.3 करोड़ डॉलर यानी करीब 800 करोड़ रुपये की तीन देशों की विदेशी मुद्रा जब्त की गई थी।

बशीर पर हेग स्थित अंतरराष्ट्रीय न्यायालय में भी बड़े पैमाने पर नरसंहार को अंजाम देने का मुकदमा दर्ज है। संयुक्त राष्ट्र (यूएन) के मुताबिक, बशीर के शासन के खिलाफ 2003 में दारफुर में हुए विद्रोह को सख्ती से दबाने में तीन लाख से भी ज्यादा लोगों की जान चली गई थी और करीब 25 लाख लोग बेघर हो गए थे। बशीर ने तख्तापलट के जरिये 1989 में सूडान की सत्ता पर कब्जा किया था।