UAE Hope mission transmits ‘होप’ ने मंगल ग्रह की कक्षा में प्रवेश कर इतिहास रच दिया है। संयुक्त अरब अमीरात (यूनाइटेड अरब एमिरेट्स) के इस अंतरिक्षयान ने मंगल ग्रह की सतह से 24,700 किलोमीटर की ऊंचाई से तस्वीरें ली हैं। यह बात की जानकारी रविवार को यूएई के प्रधानमंत्री शेख मोहम्मद बिन राशिद अल मख्तूम ने ट्विटर पर तस्वीर साझा कर दी है। उन्होंने लिखा, अरब देशों में पहली बार किसी मुल्क ने मंगल ग्रह की तस्वीरें ली हैं। हमें उम्मीद है कि इस मिशन से मंगल ग्रह के बारे में नई खोज में मदद मिलेगी, जिससे आगे चलकर मानवता को लाभ होगा।

मंगल के वातावरण का करेगा अध्ययन

इस तस्वीर में मंगल की सतह पर सूरज की रौशनी पड़ते हुए दिख रही है। इसके अलावा उत्तरी ध्रुव और मंगल की सबसे बड़ी ज्वालामुखी ओलिम्पस मून्स भी नजर आ रही है। बताया जा रहा है कि ऑर्बिट अंडाकार होने की वजह से रोवर को इसे पूरा करने में 55 घंटे का समय लगेगा। इस तरह यूएई का होप यान अगले कुछ महीनों तक मंगल ग्रह के वातावरण का अध्ययन करेगा।

मंगल ग्रह का पहला ग्लोबल मैप तैयार करना है लक्ष्य

इस मिशन का लक्ष्य पूरे एक साल तक मंगल के हर हिस्से पर पूरे दिन नजर रखना, ग्रह का पहला ग्लोबल मैप तैयार करना और ग्रह के मौसम के रहस्यों से पर्दा उठाना है। बता दें मंगल पर सफलतापूर्वक अंतरिक्ष यान उतारने वाला एकमात्र देश अमेरीका है। वहीं नासा के दो लैंडर - इनसाइट और क्यूरियोसिटी मंगल ग्रह पर संचालित हो रहे हैं। इसके अलावा छह अन्य अंतरिक्ष यान- अमेरीका से तीन, यूरोपीय देशों से दो और भारत से एक यान मंगल की कक्षा से लाल ग्रह की तस्वीरें ले रहे हैं। मंगल ग्रह के लिए चीन ने अंतिम प्रयास 2011 में रूस के सहयोग से किया था, जो नाकाम रहा था।

Posted By: Sandeep Chourey

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

 
Show More Tags