वॉशिंगटन। पाकिस्तानी प्रधानमंत्री नवाज शरीफ इस माह के आखिरी में अमेरिका का दौरा करने वाले हैं और ओबामा प्रशासन पाकिस्तान के साथ भारत जैसा परमाणु करार करने की योजना बना रहा है।

वॉशिंगटन पोस्ट की खबर के मुताबिक, इसके लिए पाकिस्तान को वादा करना होगा कि वह अपने परमाणु हथियारों का गैरजरूरी विस्तार नहीं करेगा। रिपोर्ट के मुताबिक, पाकिस्तान को भारत के परमाणु हथियारों का मुकाबला करने जितनी ताकत जुटाने की छूट होगी।

सूत्रों के मुताबिक, पाकिस्तान ऐसी कुछ शर्तों पर राजी भी हो सकता है। मसलन - शरीफ यह वादा कर सकते हैं कि पाकिस्तान एक निश्चित दूरी तक मार करने वाली परमाणु मिसाइलें ही तैनात करेगा।

इसके ऐवज में अमेरिका 48 देशों के परमाणु आपूर्ति समूह (एनएसजी) से पाकिस्तान को छूट की गुजारिश करेगा। भारत को लेकर भी अमेरिका ने ऐसा ही किया है।

ओबामा प्रशासन का कहना है कि 22 अक्टूबर को होने वाली ओमाबा-शरीफ की मुलाकात के लिए सामान्य कार्यसूची बनाई गई है। हालांकि किसी खास मुद्दे को लेकर अधिकारी अभी मौन हैं।

मालूम हो, अमेरिका ने पाकिस्तान समेत सभी परमाणु सम्पन्न देशों से कहा है कि वे हथियारों को विकास न करें।

'परमाणु करार रोकना चाहते थे मनमोहन सिंह'

Posted By:

  • Font Size
  • Close