World News: अमेरिकी अमेरिकी संसद के निचले सदन ‘हाउस ऑफ रिप्रजेंटेटिव’ की अध्यक्ष नैंसी पेलोसी प्रस्तावित ताइवान यात्रा को लेकर तनाव बढ़ता जा रहा है। चीन ने अमेरिका को साफ चेतावनी देते हुए कहा है कि अमेरिकी प्रतिनिधि सभा की अध्यक्ष नैंसी पेलोसी (Nancy Pelosi) ताइवान की यात्रा करती हैं, तो इसके ‘गंभीर नतीजे’ होंगे। उधर नैंसी पेलोसी का विमान ताइवान पहुंच चुका है। ताइवान पहुंचकर नैंसी पेलोसी ने कहा कि यूएस प्रतिनिधिमंडल का ये दौरा ताइवान में लोकतंत्र के प्रति हमारी प्रतिबद्धता का सूचक है।

US delegation visit honours commitment to Taiwan's democracy: Pelosi

Read @ANI Story | https://t.co/ygcFCu2QAD#Pelosi #pelositaiwan #NancyPelosi pic.twitter.com/Y7n50k74f5

— ANI Digital (@ani_digital) August 2, 2022

चीन की धमकी को देखते हुए अमेरिकी प्रशासन ने नैंसी के विमान की निगरानी और सुरक्षा में 22 लड़ाकू विमान लगा रखे थे। अमेरिका ने ताइवान के पूर्वी इलाके में अपने चार युद्धपोत भी तैनात कर दिये हैं। साथ ही यूएस के फाइटर जेट भी ताइवान के आसपास पहुंच गये हैं।

आपको बता दें कि नैंसी पेलोसी उच्च स्तरीय डेलिगेशन के साथ सिंगापुर, मलेशिया, साउथ कोरिया और जापान के दौरे पर हैं। मलेशिया की यात्रा करने के बाद वो ताइवान की राजधानी ताइपे पहुंचेंगी और रात वहीं बिताएंगी।

चीन का कड़ा प्रतिरोध

चीन के विदेश विभाग के प्रवक्ता ने कहा है कि हाउस स्पीकर नैंसी पेलोसी की ताइवान की यात्रा को चीन के आंतरिक मामलों में दखल माना जाएगा। चीनी वायुसेना के फाइटर जेट भी लगातार ताइवान की सीमा पर उड़ान भर रहे हैं। ताइवान के पास फुजियान में भी चीन ने सैन्य अभ्यास कर चीन ने अमेरिका को अपनी ताकत का एहसास कराया है। आपको बता दें कि चीन ताइवान को अपने देश का हिस्सा मानता है और उसके स्वतंत्र विदेश नीति का विरोध करता है।

अमेरिका की प्रतिक्रिया

चीन की धमकियों और उकसानेवाली कार्रवाई पर अमेरिका ने भी कड़ा रुख अपनाया है। व्हाइट हाउस की राष्ट्रीय सुरक्षा परिषद के प्रवक्ता जॉन किर्बी ने कहा कि स्वशासित द्वीप में यात्रा करने या न करने का अंतिम फैसला पेलोसी का ही है। उन्होंने कहा कि अमेरिकी सांसद सालों से ताइवान की नियमित यात्रा करते रहे हैं। आपको बता दें कि चीन ताइवान पर अपना दावा करता है। किर्बी ने कहा कि प्रशासनिक अधिकारियों को चिंता है कि बीजिंग इस यात्रा को बहाना बनाकर ताइवान जलडमरूमध्य या ताइवान के आसपास सैन्य कदम उठाने, ताइवान के हवाई क्षेत्र में उड़ान भरने और जलडमरूमध्य में बड़े पैमाने पर नौसैनिक अभ्यास करने समेत उकसाने की कार्रवाई कर सकता है।

Posted By: Shailendra Kumar

  • Font Size
  • Close