वेटिकन सिटी। डोमिनिक गणराज्य में वेटिकन के राजदूत रहे जोजेफ वेसोलोवस्की को यौन शोषण का दोषी पाए जाने के बाद चर्च के पदों से हटा दिया गया है। वेटिकन में यौन शोषण के आरोपों पर किसी पादरी को हटाए जाने का यह पहला मामला है।

पोलैंड के मुख्य पादरी जोजेफ को डोमिनिक गणराज्य में सैंटो डॉमिन्गो की झोपड़पट्टी में कई बच्चों के यौन शोषण का दोषी करार दिया गया है। पोप फ्रांसिस ने पिछले साल आरोप सामने आने के बाद 2008 से डोमिनिक के राजदूत रहे जोजेफ को वेटिकन वापस बुला लिया था।

वेटिकन की जांच में उन्हें यौन शोषण का दोषी करार दिया गया। इसके बाद वह चर्च में पादरी के रूप में कोई भी कार्य नहीं कर सकेंगे। पहली बार वेटिकन के किसी राजदूत को यौन शोषण में चर्च के पदों से बेदखल किया गया है। जोजेफ के पास अपील के लिए दो महीने का वक्त है।

अगर आपराधिक मुकदमे में भी वह दोषी पाए जाते हैं तो उनका प्रत्यर्पण डोमिनिक गणराज्य हो सकता है, जहां की सरकार ने उनके खिलाफ मामले की जांच के लिए विशेष वकील नियुक्त कर रखा है।

Posted By:

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस