इस्लामाबाद। पाकिस्तान के गृह मंत्री इजाज शाह ने कहा है कि उनका देश गुरुद्वारा दरबार साहिब के लिए भारतीय श्रद्धालुओं को बगैर पासपोर्ट के करतारपुर गलियारे में प्रवेश देने के प्रस्ताव पर विचार कर रहा है। उन्होंने कहा कि इसका मकसद अधिक से अधिक श्रद्धालुओं को आकर्षित करना है। पिछले साल नौ नवंबर को पाकिस्तान और भारत ने अपनी-अपनी सीमा के अंदर करतारपुर गलियारे का अलग-अलग उद्घाटन किया था। भारतीय क्षेत्र में पीएम नरेंद्र मोदी, तो पाकिस्तान में वहां के वजीरे आला इमरान खान ने गलियारे का उद्घाटन किया था। करतारपुर गलियारा भारतीय सिख श्रद्धालुओं को पाकिस्तान में नारोवाल के करतापुर में पवित्र गुरुद्वारा दरबार साहिब पहुंचने के लिए सबसे छोटा मार्ग उपलब्ध कराता है।

करतारपुर साहिब में गुरुनानक देव ने अपने जीवन के अंतिम 18 साल गुजारे थे। गुरुनानक देव ने 1504 में रावी नदी के तट पर करतारपुर में सबसे पहले सिख समुदाय को बसाया था। शाह ने नेशनल एसेंबली में प्रश्नकाल के दौरान कहा कि वर्तमान में भारत और पाकिस्तान के बीच हुए समझौते के तहत भारतीय श्रद्धालुओं को बिना पासपोर्ट के करतारपुर गलियारे में जाने की इजाजत नहीं है। लेकिन, ज्यादा पर्यटकों को आकर्षित करने के लिए उन्हें बिना पासपोर्ट के आने देने के प्रस्ताव पर विचार किया जा रहा है। इसके लिए विदेश मंत्रालय से विस्तृत जानकारी मांगी जा सकती हैं।

वर्तमान में यह नियम है कि करतारपुर कॉरिडोर से सिख तीर्थयात्रियों को बिना वीजा यात्रा करने और उसी दिन लौटने की अनुमति है। मौजूदा प्रक्रिया के मुताबिक, तीर्थयात्री भारतीय पासपोर्ट या भारतीय मूल के विदेशी नागरिक के कार्ड के साथ-साथ निवासी देश का पासपोर्ट प्रस्तुत कर गलियारे की यात्रा कर सकते हैं।

पाकिस्तानी गृह मंत्री ने कहा कि पाकिस्तान में बाहर निकलने से रोकने के लिए आगंतुकों को घूमने वाले गेट का उपयोग करके गुरुद्वारा परिसर के अंदर रखा जाता है। गलियारे में और उसके आसपास की सभी गतिविधियों पर कैमरों के जरिए नजर रखी जाती है।

Posted By: Yogendra Sharma

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

ipl 2020
ipl 2020