वॉशिंगटन। खुद एक फेस मास्क पहने बिना, राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने गुरुवार को पेन्सिलवेनिया में एक मास्क डिस्ट्रीब्यूशन सेंटर का दौरा करने पहुंचे। कोरोना वायरस प्रकोप की वजह से अमेरिकी सामरिक भंडार में हुई चिकित्सा उपकरणों की कमी को फिर पूरा करने की योजना की घोषणा की।

रिपब्लिकन पार्टी के नेता ट्रंप एक बार फिर से नवंबर में चुनाव लड़ने जा रहे हैं। उनके प्रशासन ने अमेरिकियों को मार्गदर्शन दिया है कि वे सभी मास्क पहनें और व्हाइट हाउस के नए नियमों के अनुसार, स्टाफ के कर्मचारियों को काम के दौरान मास्क पहनना अनिवार्य है। इसके बावजूद ट्रंप ने मास्क पहनने से इनकार कर दिया। हालांकि, कंपनी के अधिकारियों ने मास्क पहना था।

बताते चलें कि राष्ट्रपति ने ओवेन्स एंड माइनर इंक वितरण केंद्र का दौरा किया। व्हाइट हाउस ने कहा कि संयुक्त राज्य अमेरिका के अस्पतालों और सर्जरी केंद्रों को लाखों एन 95 मास्क, सर्जिकल गाउन और दस्ताने भेजे गए हैं। ट्रंप ने पिछले सप्ताह एरिजोना में एक मास्क उत्पादन सुविधा का दौरा किया था, तब भी उन्होंने चेहरा ढंकने के लिए मास्क नहीं पहना था।

पेंसिल्वेनिया राष्ट्रपति चुनावों में राजनीतिक रूप से काफी महत्वपूर्ण है और रिपब्लिकन व डेमोक्रेट्स, दोनों द्वारा उसे लुभाया जाता है। ट्रंप ने ओबामा प्रशासन पर स्टॉकपाइल को खत्म करने की अनुमति देने का आरोप लगाया। ट्रंप ने कहा कि उनका प्रशासन एक से तीन सप्ताह के मूल्य के बजाय तीन महीने की आपूर्ति आरक्षित रखने की मांग करेगा। अपने दौरे के बाद ट्रंप ने कहा कि मैंने यह निर्धारित किया है कि अमेरिका भविष्य के किसी भी प्रकोप के लिए पूरी तरह से तैयार होगा। हालांकि, हमें उम्मीद है कि ऐसा अब कोई भी नहीं होगा।

Posted By: Shashank Shekhar Bajpai

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

जीतेगा भारत हारेगा कोरोना
जीतेगा भारत हारेगा कोरोना