आज विश्व जनसंख्या दिवस World Population Day है। हर साल 11 जुलाई को इस दिन को मनाया जाता है जिसका का उद्देश्य जनसंख्या संबंधित समस्याओं पर दुनियाभर में जागरूकता लाना है। 1989 में संयुक्त राष्ट्र विकास कार्यक्रम की गवर्निंग काउंसिल द्वारा यह आयोजन स्थापित किया गया था। आज जो हालात हैं इसे देखते हुए अनुमान लगाया जा रहा है कि अगले 4-5 सालों में दुनिया की जनसंख्या 800 करोड़ हो जाएगी। हालांकि, एक रिपोर्ट में दावा किया गया है कि इस साल कोरोना वायरस के कारण बने हालातों की वजह से दुनिया में बच्चों की जन्मदर में 50 प्रतिशत तक कमी आएगी। उसका अहम कारण सोशल डिस्टेंसिंग के अलावा कोरोना संक्रमण का डर है।

London School of Economics के सर्वे में यह दावा किया गया है कि कोरोना के कारण हुए लॉकडाउन को लेकर Unicef समेत दुनिया की कई ऐजेंसियों द्वारा अनुमान जताया जा रहा था कि इससे दुनिया में जन्मदर बढ़ेगी लेकिन ऐसा नहीं है, इसकी वजह से जनसंख्या में उछाल की बजाय गिरावट आएगी। सर्वे में कहा गया है कि अमेरिका, यूरोप और तमाम एशियाई देशों में जन्मदर में 30-50 प्रतिशत तक की कमी आएगी।

सर्वे में कहा गया है कि यूरोपीय देशों में तो 18 से 34 साल की उम्र के 60 प्रतिशत तक युवाओं ने अपना परिवार बढ़ाने का विचार एक साल के लिए आगे बढ़ा दिया है। इसी तरह का एक सर्वे ऑस्ट्रेलिया की नेशनल यूनिवर्सिटी ने किया है और इसमें दावा किया गया है कि कोरोना के कारण कोई भी Baby Boom जैसी स्थिति नहीं रहेगी। बल्कि इसकी बजाय देश में जन्मदर में कमी आएगी।

लंदन स्कूल ऑफ इकोनॉमिक्स का यह सर्वे इसी साल मार्च और अप्रैल में किया गया था जिसमें पाया गया कि इस महामारी ने लोगों के परिवार बढ़ाने के प्लान पर असर डाला है।

सर्वे की लेखिका फ्रांसिस्का लुपी के अनुसार, महामारी की वजह से पिछली सदी की सबसे बुरी आर्थि स्थिति पैदा हुआ है। ऐसे में अक्सर जन्मदर में कमी देखी गई है।

स्टडी के अनुसार, जर्मनी और फ्रांस में आधे से ज्यादा सैंपल्स ने कहा कि वो अपना परिवार बढ़ाने का फैसला टाल रहे हैं। यूके में युवाओं ने इस प्लान को एक साल के लिए आगे बढ़ाने का फैसला किया है। लगभग 58 प्रतिशत युवाओं ने यही कहा।

जहां तक भारत की बात है तो यहां भी जन्मदर में कमी की उम्मीद है। यूनिसेफ ने अनुमान लगाया था कि मार्च से दिसंबर के बीच भारत में सर्वाधिक 2 करोड़ बच्चे जन्म लेंगे लेकिन हालातों को देखते हुए इसमें कमी का अनुमान लगाया जा रहा है।

Posted By: Ajay Kumar Barve

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

Ram Mandir Bhumi Pujan
Ram Mandir Bhumi Pujan