Davos 2020: अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने एक बार फिर कहा है कि वे कश्मीर मुद्दे पर भारत और पाकिस्तान के बीच मध्यस्थता के लिए तैयार हैं। दावोस में विश्व आर्थिक मंच की सालाना बैठक में हिस्सा लेने आए डोनाल्ड ट्रम्प ने कहा, कश्मीर मुद्दे पर भारत और पाकिस्तान के बीच जो चल रहा है, उस पर अमेरिका की नजर है और यदि जरूरी हुआ तो वे इसे हल करने में सहायता करने के लिए तैयार हैं। हालांकि डोनाल्ड ट्रम्प ने यह साफ नहीं किया कि वे किस तरह मदद करेंगे। वहीं, भारत और अमेरिका में चर्चा तेज है कि डोनाल्ड ट्रम्प भारत का दौरा कर सकते हैं। इसको लेकर ट्रम्प से पूछा गया कि क्या वे भारत जाएंगे तो कुछ देर के लिए पाकिस्तान भी ठहरेंगे? इस पर ट्रम्प ने कहा, हम तो अभी भी मिल रहे हैं। लेकिन मैंं दोनों रिश्तों को हैलो कहना चाहूंगा। दोनों देशों के साथ हमारे महान संबंध हैं।

डोनाल्ड ट्रम्प ने यह बात पाकिस्तान के प्रधानमंत्री Imran Khan से मुलाकात से पहले कही। बकौल डोनाल्ड ट्रम्प, 'व्यापार बहुत बहुत ज्यादा महत्वपूर्ण होने जा रहा है। हम लोग कुछ सीमाओं पर भी साथ काम कर रहे हैं। भारत और पाकिस्तान के बीच हम कश्मीर पर बात करेंगे। अगर हम मदद कर सकते हैं तो निश्चित तौर पर ऐसे करेंगे।'

वहीं ट्रम्प से मुलाकात के बाद पाकिस्तान के प्रधानमंत्री Imran Khan ने कहा, सही मायनों में मुख्य मुद्दा अफगानिस्तान है क्योंकि यह अमेरिका और पाकिस्तान की चिंता का कारण है। हम दोनों ही वहां शांति और तालिबान व सरकार से वार्ता के माध्य्यम से सुचारू बदलाव चाहते हैं।

बता दें, पिछले साल अगस्त में भी डोनाल्ड ट्रंप ने कहा था कि अगर भारत चाहेगा तो वह कश्मीर मामले में मध्यस्थता करने को तैयार हैं। उन्होंने पहले कहा था कि भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उनसे कहा है कि वे मध्यस्थता करें। हालांकि भारत के विरोध के बाद ट्रम्प को अपने बयान से पलटना पड़ा था और सफाई देना पड़ी थी कि इस मामले को भारत और पाकिस्तान को द्विपक्षीय स्तर पर सुलझाना चाहिए।

Posted By: Arvind Dubey

fantasy cricket
fantasy cricket