अमेरिका में यूजर्स की सहमति के बिना उनका बायोमीट्रिक डाटा एकत्र करने के मामले में फेसबुक पर मुकदमा दर्ज किया गया है। इस मामले में दोषी पाए जाने पर इस दिग्गज सोशल मीडिया प्लेटफार्म को 500 अरब डॉलर (करीब 37 लाख करोड़ रुपये) तक के भारी-भरकम जुर्माने का सामना करना पड़ सकता है। मुकदमे में फेसबुक की सहायक कंपनी इंस्टाग्राम द्वारा यूजर्स का डाटा एकत्र किए जाने का आरोप लगाया गया है। इसमें कहा गया है कि इस कंपनी ने दस करोड़ लोगों का डाटा जुटाया और अपने फायदे के लिए इस्तेमाल किया। हालांकि फेसबुक ने इस मुकदमे को निराधार करार दिया है।

डेली मेल की खबर के अनुसार, कैलिफोर्निया के रेडवुड शहर की अदालत में सोमवार को यह मुकदमा दायर किया गया। इसमें इंस्टाग्राम पर आरोप लगाया गया है कि उसने फोटो-टैगिंग टूल के जरिये लोगों की पहचान करने के लिए फेशियल रेकॉग्निशन तकनीक का इस्तेमाल किया। इंस्टाग्राम ने भी माना कि कंपनी इस फीचर का इस्तेमाल करती है। हालांकि उसका यह दावा है कि डाटा को विशेष सुरक्षा प्रदान की गई है और यूजर्स की इजाजत के बाद ही इस तरह का डाटा जुटाया गया। जबकि मुकदमे में आरोप लगाया गया है कि यह कंपनी स्वचालित तरीके से उन लोगों के चेहरों को भी स्कैन करती है, जो इंस्टाग्राम पर दूसरों के अकाउंट में दिखाई देते हैं। इसके पास उन लोगों का भी बायोमीट्रिक डाटा है, जो इस कंपनी के नियमों से सहमत नहीं हैं।

Posted By: Navodit Saktawat

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

ipl 2020
ipl 2020