ब्राजीलिया। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरुवार को यहां ब्रिक्स देशों के बिजनेस लीडरों को संबोधित करते हुए कहा कि भारत विश्व में सबसे खुली व निवेश अनुकूल अर्थव्यवस्था वाला देश है। देश में निवेश का आह्वान करते हुए उन्होंने कहा कि भारत में निवेश की असीम संभावनाएं हैं और अनगिनत अवसर हैं।

ब्रिक्स बिजनेस फोरम को संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि वैश्विक आर्थिक सुस्ती के माहौल में भी इस संगठन के पांचों देशों में आर्थिक गतिविधियां बढ़ी हैं। राजनीतिक स्थिरता, व्यावहारिक नीतियों व कारोबार अनुकूल सुधारों के कारण भारत विश्व का सबसे खुली व निवेश अनुकूल अर्थव्यवस्था वाला देश है। 2024 तक देश की इकॉनामी फाइव ट्रिलियन डॉलर (50 खरब डॉलर) की हो जाएगी। सिर्फ बुनियादी ढांचागत क्षेत्र में ही 15 खरब डॉलर के निवेश की जरूरत है।

ब्राजील के राष्ट्रपति जनवरी में आएंगे भारत यात्रा पर

11वें ब्रिक्स सम्मेलन के मौके पर पीएम मोदी ने बुधवार को यहां ब्राजील के राष्ट्रपति जेयर बोल्सोनारो से मुलाकात की। उन्हें 2020 की गणतंत्र दिवस परेड के मुख्य अतिथि बनने का न्योता दिया गया, जिसे उन्होंने खुशी-खुशी मंजूर कर लिया। पीएम मोदी ने ब्राजील द्वारा भारतीयों को वीसा मुक्त यात्रा सुविधा देने के फैसले का स्वागत किया है।

पीएम ने बोल्सोनारो से मुलाकात की और आतंकवाद से मुकाबले के लिए एक तंत्र बनाने में सहयोग मांगा और ब्रिक्स में शामिल विश्व की पांच बड़ी अर्थव्यवस्थाओं के साथ भारत के रिश्ते मजबूत करने पर जोर दिया। ब्राजील के राष्ट्रपति ने कहा कि उनके साथ गणतंत्र दिवस परेड (26 जनवरी) के मौके पर एक बड़ा व्यावसायिक प्रतिनिधिमंडल आएगा जो भारत के साथ अंतरिक्ष व रक्षा क्षेत्र के अलावा अन्य क्षेत्रों में सहयोग पर भी चर्चा करेगा।

इस साल दक्षिण अफ्रीका के राम्फोसा थे परेड के अतिथि

हर साल गणतंत्र दिवस परेड में विदेशी राष्ट्राध्यक्षों को आमंत्रित करने की परंपरा है। 2016 में फ्रांस के तत्कालीन राष्ट्रपति फ्रांस्वा ओलां आए थे, 2017 में यूएई के क्राउन प्रिंस मोहम्मद बिन जायेद अल नाहयान, 2018 में 10 आसियान देशों के नेता आए थे, जबकि 2019 में दक्षिण अफ्रीका के राष्ट्रपति सिरल राम्फोसा मुख्य अतिथि बने थे। वह नेल्सन मंडेला के बाद दूसरे दक्षिण अफ्रीकी नेता थे, जो इस भव्य आयोजन में आए थे।

जिनपिंग-मोदी निकट संपर्क में रहने पर हुए सहमत

पीएम मोदी ने ब्राजील की राजधानी ब्राजीलिया में चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग के साथ भी चर्चा की। दोनों नेताओं ने व्यापार व निवेश से संबंधित मसलों व भारत-चीन रिश्तों को और व्यापक बनाने के लिए निकट संपर्क में रहने पर भी जोर दिया। मुलाकात के बाद पीएम ने ट्वीट किया, राष्ट्रपति जिनपिंग के साथ द्विपक्षीय सहयोग और बढ़ाने से संबंधित कई मुद्दों पर बात हुई। यह चर्चा भारत-चीन रिश्तों में नया उत्साह भरेगी। पिछले माह दोनों नेताओं ने चेन्नई के मामल्लापुरम में दूसरी अनौपचारिक शिखर बैठक की थी।

Posted By: Shashank Shekhar Bajpai