ऑकलैंड। चीन के वुहान शहर से फैली कोरोना महामारी ने पूरी दुनिया को घरों में कैद रहने के लिए मजबूर कर दिया है। पूरी दुनिया Covid-19 के बढ़ते मामलों के लेकर हैरान है। इस बीच न्यूजीलैंड से एक अच्छी खबर है। न्यूजीलैंड ने इस लड़ाई में जीत हासिल कर ली है क्योंकि देश ने बुधवार को ऑकलैंड के मिडिलमोर अस्पताल से अपने आखिरी कोरोना वायरस से संक्रमित मरीज को छुट्टी दे दी।

स्वास्थ्य अधिकारियों ने बुधवार को घोषणा कर दी है कि लगातार पांचवें दिन, न्यूजीलैंड में COVID-19 का एक भी मामला सामने नहीं आया है। अभी तक कोरोना के कुल मामलों की संख्या 1,474 है, और COVID-19 के सिर्फ आठ ही सक्रिय मामले हैं। जॉन्स हॉपकिन्स के कोरोना वायरस संसाधन केंद्र के अनुसार, देश में कोरोना के कुल 1,500 मामले सामने आए हैं और कुल 21 लोगों की मौत हुई है, जो अन्य देशों से बहुत बेहतर है।

इस घातक वायरस से निपटने में सफलता का श्रेय पीएम जेसिंडा अर्डेन के प्रभावी नेतृत्व को दिया जा सकता है। उन्होंने देश में जल्दी लॉक डाउन लगा दिया था और सामाजिक दूरी के पालन करने के लिए लोगों को जागरुक करने के साथ ही कोरोना संक्रमण के लिए आक्रामक परीक्षण किए गए।

अन्य देशों के विपरीत, न्यूजीलैंड में Covid-19 को लेकर प्रतिक्रिया अपेक्षाकृत तेज थी। जब देश में केवल छह मामले सामने आए थे, तो पीएम अर्डेन ने 14 मार्च को घोषणा कर दी थी कि देश में प्रवेश करने वाले किसी व्यक्ति को दो सप्ताह के लिए सेल्फ आइसोलेशन में रहना होगा।

19 मार्च को जब मामलों की संख्या 28 हो गई, तो अर्डेन ने विदेशियों के देश में प्रवेश पर पूरी तरह प्रतिबंध लगा दिया था।

Posted By: Shashank Shekhar Bajpai

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

जीतेगा भारत हारेगा कोरोना
जीतेगा भारत हारेगा कोरोना