कभी दुनिया के सबसे खूंखार आतंकी संगठनों में शुमार इस्लामिक स्टेट यानी ISIS को एक और बड़ा झटका लगा है। हाल ही में ISIS के और आतंकियों को इराक के मोसुल शहर में गिरफ्तार किया गया। इनमें शिफा अल-निमा (Shifa al-Nima) भी शामिल था। शिफा अल-निमा शुरू से ISIS से जुड़ा था। उसका काम था अपने भाषणों के जरिए आतंकियों को तैयार करना और उनके दिमाग में जहर घोलना। शिफा अल-निमा ने कहा था कि आतंकियों का महिलाओं के साथ दुष्कर्म करना गलत नहीं है। बहरहाल, शिफा अल-निमा करीब 135 किलो वजनी था। जब उसे गिरफ्तार किया गया तो वह बिस्तर से उठ भी नहीं पा रहा था। आखिर में ट्रक में डालकर उसे जेल तक ले जाया गया। ISIS के आतंकी उसे जब्बा द जेहादी कहते थे। कहा जा रहा है कि उसके पकड़े जाने से ISIS का दोबारा उठ खड़ा होना मुश्किल है।

इराक की SWAT टीम ने यह छापा मारी की थी। शुरू में Shifa al-Nima को कार में डालकर ले जाने की कोशिश हुई, लेकिन नाकाम रहे। Shifa al-Nima के बारे में इराक और इजराइल के अखबारों में विस्तार से छपा है। लिखा गया है कि Shifa al-Nima अपने भाषणों में ISIS के हर गलत काम को इस्लाम से हिसाब से सही करार देता था।

Shifa al-Nima के बारे में तहकीकात कर चुके ब्रिटिश एक्टिविस्ट माजिद नवाज के अनुसार, Shifa al-Nima को शुरू से ISIS का बड़े लीडर माना गया। वही फतवे जारी करता था, जिसके बाद आतंकी खुलकर कत्लेआम मचाते थे।Shifa al-Nima का पकड़ा जाना आतंकी संगठन के लिए बहुत बड़ा झटका है, क्योंकि माना जा रहा था कि बगदाली की मौत के बाद भी आतंकी संगठन फिर खड़ा हो सकता है। बीते दिनों ईरानी कमांडर कासिम सुलेमानी की मौत के बाद भी ISIS ने कहा था कि अमेरिका का यह कदम उसके लिए फायदेमंद होगा।

यह भी पढ़ें: क्या आपके पास भी है 786 सीरीज और ट्रैक्टर वाला 5 रुपए का पुराना नोट

Posted By: Arvind Dubey

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

ipl 2020
ipl 2020