कोरोना महामारी ने इस वक्त लगभग पूरी दुनिया को अपनी चपेट में ले रखा है। चीन के वुहान शहर से शुरू हुआ यह संक्रमण कुछ महीनों में ही पूरी दुनिया में फैल चुका है। दुनियाभर में कोरोना के 1 करोड़ से ज्यादा केस सामने आ चुके हैं, वहीं लाखों लोगों की इस जानलेवा संक्रमण से मौत हो चुकी है। अब तक चीन की ओर से दावा किया जाता रहा है कि उन्होंने इसकी जानकारी सही समय पर WHO को दे दी थी, लेकिन अब विश्व स्वास्थ्य संगठन की ओर से कहा गया है कि संक्रमण के पहले चरण के बारे में चीन की सरकार से नहीं बल्कि चीन स्थित WHO के कार्यालय से जानकारी मिली थी।

बता दें कि कोरोना को लेकर WHO पर चीन के प्रति नरम रवैया रखने को लेकर यूएस नाराज है। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप इसे लेकर कई बार बयान भी दे चुके हैं, इसके अलावा यूएस की ओर से WHO को मिलने वाले भारी फंड पर भी रोक लगा दी गई। हालांकि WHO ने उनके सारे आरोपों को खारिज कर दिया है।

9 अप्रैल को WHO ने जारी की थी सूचना

दुनिया में कोरोना महामारी फैलने के बाद और WHO के अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के निशाने पर आने के बाद विश्व स्वास्थ्य संगठन ने पहली सूचना अपनी टाइमलाइन पर 9 अप्रैल को जारी की थी। इसमें WHO ने सिर्फ इतना कहा था कि चीन के हुबेई प्रांत के वुहान म्युनिसिपल हेल्थ कमीशन की ओर से निमोनिया के मामलों की जानकारी 31 दिसंबर को दी गई थी।

WHO प्रमुख टेड्रॉस ऐडहॉनम गीब्रियेसस ने प्रेस कांफ्रेस के दौरान बताया कि चीन से पहली रिपोर्ट 20 अप्रैल को आई थी और इसमें इस बात का जिक्र भी नहीं किया गया था कि यह रिपोर्ट चीन के अधिकारियों द्वारा भेजी गई है या किसी अन्य सोर्स के द्वारा।

गौरतलब है कि दुनियाभर में कोरोना से निपटने के लिए अब वैक्सीन बनाने पर युद्धस्तर पर काम किया जा रहा है। अगर वैक्सीन बन जाता है तो भी उसे पूरी दुनिया के हर व्यक्ति तक पहुंचने में लंबा अर्सा लग जाएगा।

Posted By: Neeraj Vyas

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

Raksha Bandhan 2020
Raksha Bandhan 2020