Gold Hallmark Rules: हमारे देश में सोना खरीदना सबसे बेहतर निवेश माना जाता है। साथ ही उपहार के रुप में सोना देना बड़ी बात मानी जाती है। तीज-त्योहारों में भी सोने खरीदने का प्रचलन है। ऐसे में देश के सोना खरीदनेवाले को एक अच्छी खबर है। 1 जून से देश के तमाम दुकानों में बिकनेवाला सोना हॉलमार्क के साथ होगा। यानी अब सोने की खरीद में गड़बड़ी या मिलावट की गुंजाइश नहीं रहेगी। BIS की अधिसूचना के मुताबिक 1 जून, 2022 से जौहरी केवल हॉलमार्क वाले सोने के आभूषण ही बेच सकते हैं। सीधे शब्दों में कहें तो सोने के गहनों की हर वस्तु, कैरेट की परवाह किए बिना, अनिवार्य रूप से हॉलमार्क होनी चाहिए। ग्राहकों के लिए ये बड़ी राहत की बात होगी। यानी 1 जून से बाजार में बिकने वाले सभी सोने के आभूषण, शुद्धता के मामले में पूरी तरह से सुरक्षित माने जाएंगे।

1 जून से नियमों में बदलाव

वर्तमान में, भारतीय मानक ब्यूरो (बीआईएस) की वेबसाइट के अनुसार, 6 शुद्धता श्रेणियों, अर्थात् 14 कैरेट, 18 कैरेट, 20 कैरेट, 22 कैरेट, 23 कैरेट और 24 कैरेट के लिए सोने की हॉलमार्किंग की अनुमति है। इस प्रकार, अन्य शुद्धता (21KT या 19KT) के सोने के आभूषणों को किसी जौहरी को बेचने से पहले हॉलमार्क की आवश्यकता नहीं होती है। लेकिन 1 जून से यह नियम बदल जाएगा।

नये नियमों के तहत 1 जून, 2022 से कुछ छूट प्राप्त वस्तुओं को छोड़कर सभी स्वर्ण आभूषणों और कलाकृतियों पर हॉलमार्क होना अनिवार्य है। इनमें दो ग्राम से कम वजन की कोई भी सोने की वस्तु, सोने के धागे की कोई भी वस्तु, विशेष श्रेणी के आभूषण- कुंदन, पोल्की और जड़ाऊ, सोना बुलियन आदि को हॉलमार्किंग से छूट दी जाएगी। ध्यान रहे हॉलमार्किंग शुल्क के रूप में खरीदी गई प्रत्येक सोने की वस्तु के लिए जौहरी आपसे अतिरिक्त 35 रुपये वसूल कर सकता है।

क्या है हॉलमार्क?

भारत में सोना या पीली धातु हॉलमार्क गोल्ड, बीआईएस 916 और केडीएम गोल्ड जैसी कई वैरायटी में आती है। ऐसे में जब सोना खरीदने की बात आती है, तो सोने की शुद्धता हमेशा सबसे बड़ी चिंता होती है। भारतीय मानक ब्यूरो (बीआईएस) सोने की शुद्धता और सुंदरता के प्रमाण पत्र पर मुहर लगाता है, जिसे हॉलमार्किंग कहा जाता है। सोने पर हॉलमार्किंग से पता चलता है कि आभूषण बनाने के लिए इस्तेमाल किया जाने वाला सोना शुद्धता के अंतरराष्ट्रीय मानकों का पालन करता है। भारतीय मानक ब्यूरो (बीआईएस) भारत सरकार द्वारा मान्यता प्राप्त एकमात्र एजेंसी है जो सोने के आभूषणों की हॉलमार्किंग के लिए प्रमाणन योजना संचालित करती है।

Posted By: Shailendra Kumar

  • Font Size
  • Close