बलरामपुर । अपनों से प्रताड़ित मासूम को अब बालिका गृह में रखा जाएगा। चाइल्ड लाइन के माध्यम से बालिका के संरक्षण की पहल हुई है। मामला प्रकाश में आने के बाद से बालिका को सखी स्टाप सेंटर में रखा गया था। अभी तक उसकी बुआ और फूफा के खिलाफ अपराध दर्ज नहीं किया गया है।बालिका के बयान के आधार पर कार्रवाई की जाएगी।बता दें कि नगर के वार्ड क्रमांक पांच में सीएएफ का जवान, पत्नी के साथ किराए के मकान में रहता है। बीते दो-तीन दिनों से लगातार बच्ची के रोने की आवाज आ रही थी। जिसके बाद मकान मालिक द्वारा बच्ची के रोने का कारण समझना चाहा तो बच्ची के साथ हो रही प्रताड़ना का पता चला।

जब चाइल्डलाइन एवं पुलिस टीम मौके पर जब पहुंची तो बच्ची के शरीर पर कई गंभीर निशान मिले थे।बालिका के शरीर में जलने और मारपीट से चोट के निशान भी थे। बच्ची को चाइल्ड लाइन के द्वारा बाल कल्याण समिति (सीडब्ल्यूसी) के समक्ष पेश किया गया था।सीडब्ल्यूसी द्वारा बच्ची को रविवार को सखी सेंटर में रखा गया था।सोमवार को सीडब्ल्यूसी के द्वारा बच्ची को बालिका के भेजे जाने का आदेश दिया गया।

एएसपी सुशील नायक ने बताया कि बच्ची जहां रहती है वहां का समाजिक रिपोर्ट प्रस्तुत करने व बच्ची के माता-पिता के घर का वेरिफिकेशन करने के लिए भी आदेश दिया गया है। उन्होंने बताया कि आगे बच्ची के बयान के आधार पर आरोपितों के विरुद्ध मामला दर्ज किया जाएगा।बालिका का बयान चाइल्ड लाइन और बाल कल्याण समिति द्वारा लिया गया था।

Posted By: Yogeshwar Sharma

NaiDunia Local
NaiDunia Local