अंबिकापुर(नईदुनिया न्यूज)। रेलवे पुलिस बल को ओएचई तार चोरी के आरोप में जिस युवक की तलाश थी, उसकी पत्नी के साथ फांसी लटकी लाश मिली है। पकड़े जाने के भय से आरोपित द्वारा फांसी लगा लिए जाने का संदेह जताया जा रहा है। आरोपित पिछले एक सप्ताह से पत्नी के साथ घर से निकला था और वापस नहीं लौटा था। मृतका के गर्भवती होने की बात भी सामने आई है हालांकि पुलिस ने बगैर पोस्टमार्टम रिपोर्ट के उक्त तथ्य की पुष्टि करने से इंकार किया है।

सूरजपुर जिले के चंदौरा थाना अंतर्गत ग्राम मटीगड़ा गांव से लगे जंगल में सबसे पहली बार गांववालों ने एक महिला और एक पुरुष की फांसी पर लटकी लाश देखी। सूचना पर चंदौरा थाना प्रभारी पीयूष चंद्राकर के नेतृत्व में पुलिस टीम मौके पर पहुंची थी। मृतक महिला, पुरुष की पहचान नहीं हो पा रही थी। जब पुलिस ने मृतक के पैंट के जेब की तलाशी ली तो उसमें मोबाइल बरामद हुआ। मोबाइल में अंतिम बार किए गए काल वाले फोन नंबर से संपर्क करने पर पुलिस को पता चला कि मृतक गोरेलाल 25 वर्ष मूलतः करंजी पुलिस चौकी क्षेत्र के ग्राम खरसुरा का रहने वाला था। साथ में फांसी लगाने वाली महिला उसकी पत्नी कंचन 23 वर्ष की है। पुलिस ने तत्काल स्वजन को सूचना दी। उनके आने के बाद दोनों शव को नीचे उतरवाया। पंचनामा, पोस्टमार्टम की कार्रवाई के बाद मृत दंपती के शव को स्वजन को सौंप दिया। इधर पुलिस की जांच में पता चला है कि मृतक गोरेलाल को रेलवे पुलिस बल तलाश रहा था। वह रेलवे की संपत्ति चोरी होने के मामले में नामजद था। इस मामले में चार आरोपितों को गिरफ्तार कर रेलवे पुलिस बल ने रिमांड पर भेज दिया था। उसी दौरान गोरेलाल का भी नाम सामने आया था। आरपीएफ की टीम लगातार उसकी खोजबीन कर रही थी। उसके घर भी आरपीएफ के अधिकारी, कर्मचारी गए हुए थे लगभग एक सप्ताह पहले वह पत्नी के साथ घर से गायब हो गया था।उसके माता-पिता पर भी रेलवे पुलिस बल की ओर से दबाव बनाया जा रहा था कि संदेही को उनके समक्ष पेश किया जाए लेकिन कुछ दिनों बाद वे भी कथित रूप से घर से फरार हो गए थे। फिलहाल इस मामले में चंदौरा पुलिस ने मर्ग कायम किया है।

यह था मामला

17 व 18 जून की रात अंबिकापुर-अनूपपुर रेलखंड पर शिवप्रसादनगर रेलवे स्टेशन के समीप 100 मीटर ओएचई तार चोरी कर ली गई थी।कसकेला निवासी राम बंजारे व लक्ष्‌मण बंजारे को आरपीएफ टीम ने पकड़ा था।इन दोनों आरोपितों ने बताया था कि खरसुरा के गोरेलाल व संतू के साथ मिलकर चोरी की थी।वे दोनों अपने हिस्से का चोरी का तार ले गए है।पकड़े गए आरोपितों द्वारा बलरामपुर जिले के जामवन्तपुर निवासी संजय गुप्ता के माध्यम से रामनुजंगज के कबाड़ी बबलू सोनी को रेलवे की संपत्ति बेची गई थी।इन चारों को तो 23 जून को गिरफ्तार कर लिया गया था,लेकिन गोरेलाल फरार था।दबाब बढ़ने पर वह पत्नी के साथ घर से गायब हो गया था।बाद में इन दोनों की फांसी पर लटकी लाश मिली है।

वर्जन-1

दंपती की फांसी पर लटकी लाश मिली थी। मृतक के पास से मोबाइल बरामद हुआ था उसी के माध्यम से उसकी पहचान हो सकी। मृतका गर्भवती थी या नहीं इसकी पुष्टि चिकित्सक करेंगे।पोस्टमार्टम रिपोर्ट नहीं मिली है।

पीयूष चंद्राकर

थाना प्रभारी चंदौरा

वर्जन-2

मृतक दंपती करंजी चौकी क्षेत्र के ग्राम खरसुरा के रहने वाले थे। उनके परिवार की ओर से किसी भी प्रकार की कोई शिकायत पुलिस चौकी में दर्ज नहीं कराई गई है।

संजय गोस्वामी

सहायक उप निरीक्षक,पुलिस चौकी करंजी

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close