बलौदाबाजार। राज्य की महिलाओं की सुरक्षा के लिए मुख्यमंत्री द्वारा अभिव्यक्ति ऐप लांच किया गया है। इस ऐप को छत्तीसगढ़ पुलिस विभाग द्वारा तैयार किया गया है। अभिव्यक्ति ऐप के माध्यम से राज्य की महिलाओं को तत्काल पुलिस सहायता मिलेगी। इसके अलावा इस ऐप के माध्यम से महिलाएं कहीं से भी अपनी शिकायत पुलिस के पास दर्ज करा सकेंगी। यानी अब महिलाओं को थाने जाने की भी जरूरत नहीं पड़ेगी। इसके अलावा राज्य की महिलाएं अब अपनी सुरक्षा को लेकर सुझाव भी पुलिस विभाग तक पहुंचा सकेंगी। वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक दीपक कुमार झा के निर्देशन में निरीक्षक लक्ष्मी चौहान थाना प्रभारी अजाक, साइबर सेल प्रभारी उपनिरीक्षक उमेश वर्मा, महिला प्रधान आरक्षक पिंकी कुर्रे की टीम द्वारा जिले में अभिव्यक्ति ऐप का व्यापक प्रचार-प्रसार किया जा रहा है ताकि महिलाएं अभिव्यक्ति ऐप के महत्व व उपयोग के समझें और इसका लाभ उठाएं।

इसी कड़ी में मिनीमाता कन्या महाविद्यालय बलौदाबाजार में अभिव्यक्ति ऐप का प्रचार-प्रसार कार्यक्रम आयोजित किया गया। इस ऐप के इस्तेमाल के लिए सबसे पहले महिलाओं को अपने मोबाईल फोन में प्ले-स्टोर से अभिव्यक्ति ऐप डाउनलोड करना है, जिसमें उन्हें साईन-इन करना होगा। अपना मोबाइल नंबर डालना है, तत्पश्चात ओटीपी आयेगा, उसे ऐप में डालना है। केवायसी अपडेट करना है, जिसके बाद महिलाएं कभी भी इस ऐप के माध्यम से अपनी शिकायत अपलोड कर तुरंत पुलिस की सहायता प्राप्त कर सकती हैं। कार्यक्रम में कालेज की कई छात्राओं ने भी इस ऐप के संबंध में प्रश्न पूछ कर अपनी-अपनी जिज्ञासाओं का भी समाधान किया।

कार्यक्रम में गृहणी स्वंय सेवी संस्था द्वारा संचालित चाइल्ड लाइन के माध्यम से रेखा शर्मा केंद्र समन्वयक द्वारा बच्चों को उनके अधिकारों, पास्को एक्ट व जेजे एक्ट, बाल विवाह निषेध अधिनियम की जानकारी दी गई। कार्यक्रम के दौरान पुलिस एवं चाइल्ड लाइन की टीम द्वारा मिनीमाता कन्या महाविद्यालय में उपस्थित शिक्षिकाओं एवं छात्राओं के मोबाइल में अभिव्यक्ति ऐप डाउनलोड कराया गया।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close