भिलाई। भिलाई इस्पात सयंत्र के रेल मिल के रोलिंग टेबल-3 और पुलपिट-7 की मरम्मत का कार्य जारी है। इसके पूरी तरह से ठीक होने में कम से कम दो दिनों का समय लग सकता है।

हाइड्रोलिक पाइप लाइन के साथ ही पूरी वायरिंग भी खाक हो गई है। पुलपिट का केबिन व उसका सिस्टम भी बुरी तरह प्रभावित हुआ है।

उल्लेखनीय है कि भिलाई इस्पात संयंत्र के रेल मिल विभाग में बुधवार की रात सी शिफ्ट में थिक वेब एसिमेट्रिक रेल निर्माण का काम चल रहा था। कोल्ड ब्लूम को हीट कर पटरी का आकार देने रोलिंग टेबल पर लाया गया था। इस दौरान ही रात को 11ः45 बजे रोलिंग टेबल से आग की लपटें उठने लगी और आग पूरी तरह से फैल गई। आग ने पुलपिट-7 के नीचे रोलिंग स्टैंड के टनल से होते हुए पुलपिट-7 को भी अपनी चपेट में ले लिया।

एक घंटे की मशक्कत से आग पर काबू पाया गया। घटना के बाद गुरुवार व शुक्रवार को पूरे दिन चले हुए हाइड्रोलिक लाइन, वायरिंग, मोटर व खाक हुए अन्य सामान को हटाने का काम चला। इस दौरान कर्मियों को दिक्कतों का भी सामना करना पड़ा। बताया जाता है कि पुलपिट-7 का केबिन पुरी तरह खाक हो गया है।

लापरवाही ही वजह

रोलिंग एरिया में आग लगना एक सामान्य सी बात है परन्तु पर 11 सौ से 12 सौ डिग्री तापमान पर ब्लूम को रोल किया जाता है। इस दौरान रोलर में पानी की पाइप लाइन रहते हैं लेकिन इन सबके बाद भी रोलर से ग्रीस गिरता है। कई स्थानों पर हाइड्रोलिक पाइप लाइन लीकेज होती है। टेबल के नीच भी सफाई नहीं कराने की वजह से भी यह घटना हुई होगी। फिलहाल बीएसपी मामले की विभागीय जांच करा रहा है।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

 
Show More Tags