बिलासपुर। Bilaspur Health News: सभी सरकारी और चुनिदा निजी अस्पतालों में फंगस के निश्‍शुल्क इलाज का रास्ता साफ हो गया है। सरकार ने फंगस (म्यूकरमाइकोसिस) को आयुष्मान भारत योजना में शामिल करने को मंजूरी दे दी है। प्रदेश के एपिडेमिक कंट्रोल के संचालक डॉ. सुभाष मिश्रा ने बताया कि ब्लैक फंगस के महंगे इलाज में मरीजों की मदद के लिए इसे राज्य सरकार के डॉ. खूबचंद बघेल मुख्यमंत्री स्वास्थ्य सहायता योजना में पहले ही शामिल कर लिया गया था।

इसी के तहत प्रदेश के मेडिकल कॉलेजों में मरीजों को निश्‍शुल्क इलाज किया जा रहा था। इसको केंद्र सरकार की आयुष्मान भारत योजना में शामिल कराने की कोशिश भी हो रही थी। पिछले दिनों विभाग ने बाकायदा एक प्रस्ताव बनाकर केंद्र सरकार को भेजा था। केंद्र सरकार से ब्लैक फंगस को आयुष्मान योजना में शामिल करने की अनुमति मिल गई है।

अब सभी परिवार निश्‍शुल्क इलाज के दायरे में आ गए हैं। बिलासपुर में अब तक सिम्स मेडिकल कॉलेज में ही इसका इलाज निश्‍शुल्क किया जा रहा था। आयुष्मान योजना से जुड़े चुनिंदा निजी अस्पताल जहां म्यूकरमाइकोसिस के लिए विशेषज्ञ डॉक्टर उपलब्ध होगे, वहां आयुष्मान कार्डधारी का इलाज किया जाएगा।

जिले के 14 निजी अस्पताल योजना से जुड़े

बिलासपुर जिले में 14 निजी अस्पताल आयुष्मान योजना से जुड़े हुए हैं। यहां हितग्राहियों को पैकेज के हिसाब से निश्‍शुल्क उपचार का लाभ दिया जाता है। इसमें आरबी हॉस्पिटल, जे.जे. हॉस्पिटल, महादेव हॉस्पिटल, मार्क हॉस्पिटल, प्रथम हॉस्पिटल, संजीवनी हॉस्पिटल, श्री बालाजी हॉस्पिटल, श्रीराम केयर हॉस्पिटल, श्री शिशु भवन, स्काई हॉस्पिटल, स्टॉर चिल्ड्रन हॉस्पिटल, सनसाइन हॉस्पिटल, सूर्या और वेगस हॉस्पिटल योजना में सामिल है। शासन से अनुमति के बाद अब यहां भी आयुष्मान योजना से ब्लैक फंगस का इलाज किया जाएगा।

Posted By: Yogeshwar Sharma

NaiDunia Local
NaiDunia Local