बिलासपुर। Bilaspur News: बेलगहना वन परिक्षेत्र में आधी रात सागौन लठ्ठे की तस्करी हो रही थी। सूचना मिलने के बाद वन अमले ने पिकअप की घेराबंदी की। इस दौरान चालक व उसके साथी चाबी लेकर भाग निकले। पिकअप जब्त को जब्त कर लिया गया है। जब्त पिकअप में 17 लठ्ठे रखे हुए थे।

चालक समेत फरार आरोपितों के खिलाफ भारतीय वन अधिनियम 1927 की धारा 33 व छत्तीसगढ़ काष्ठ चिरान विनियमन 1984 के एंव छत्तीसगढ़ वनोपज व्यापारा विनियम अधिनियम 1969 के तहत अपराध दर्ज कर लिया गया है। जब्त वनोपज की कीमत तीन लाख रुपये बताई जा रही है।

घटना बुधवार की है। वन कर्मचारी रात्रिकालीन गश्त पर थे। तभी मुखबिर से वन परिक्षेत्र अधिकारी विजय साहू को सूचना मिली कि किसी वाहन से अज्ञात लोग सागौन का परिवहन कर रहे हैं। इसकी जानकारी मिलते ही उन्होंने अमले को सतर्क कर दिया और घेराबंदी के निर्देश दिए। इसी बीच कक्ष क्रमांक 1204 के पास पिकअप क्रमांक सीजी -10 सी 1453 वाहन नजर आया।

अमले ने पिकअप को रूकवाया। इसी बीच अंधेरे का फायदा उठाकर चालक और पिकअप में मौजूद अन्य लोग मौके से फरार होने में सफल हो गए। सभी की आसपास तलाशी भी की गई, लेकिन पकड़ में नहीं आए। चालक चाबी भी लेकर भागा था। इसलिए वाहन को कार्यालय तक लाने के लिए वन अमले को दिक्कत भी हुई।

कार्यालय लाने के बाद जब आकलन किया गया तो पिकअप के अंदर से 17 सागौन के लठ्ठे बरामद हुए, जो 1.600 घन मीटर था। इस कार्रवाई में वन परिक्षेत्र अधिकारी विजय साहू के अलावा परिक्षेत्र सहायक मोहम्म समीम, परिसर रक्षक पंकज साहू, वनरक्षक मूलेश जोशी शामिल थे।

Posted By: Yogeshwar Sharma

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

 
Show More Tags