बिलासपुर। Bilaspur RPF News: बिहार पटना का एक 11 वर्षीय बालक घर से भागकर ट्रेन में कहीं जा रहा था। उसे अकेले देख यात्रियों ने मंडल सुरक्षा नियंत्रण कक्ष में सूचना दी। इसके बाद आरपीएफ सतर्क हो गई और ट्रेन के पहुंचते ही बालक को उसलापुर रेलवे स्टेशन में उतारा गया। इसके बाद सुरक्षा के मद्देनजर चाइल्ड लाइन के सुपुर्द कर दिया गया। चाइल्ड लाइन उसे स्वजनों को सौंपेगी।

मामला 20848 उधमपुर- दुर्ग एक्सप्रेस का है। यह ट्रेन बिलासपुर नहीं पहुंचती। उसलापुर स्टेशन से बाइपास होते हुए दुर्ग के लिए रवाना हो जाती है। इस ट्रेन के जनरल बोगी के कुछ यात्रियों ने सुरक्षा नियत्रंण कक्ष में सूचना दी की बर्थ में एक बालक मायूस बैठा है। कुछ पूछने पर वह जानकारी नहीं देता। साथ में कोई नहीं है। इस दौरान नियत्रंण कक्ष से सबसे पहले ट्रेन का लोकेशन देखा गया। उसलापुर पहुंचने वाली थी। लिहाजा यहां आरपीएफ आउट पोस्ट को जानकारी दी। इसके बाद सहायक उप निरीक्षक बी सिंह, आरक्षक जयवीर सिकरवार प्लेटफार्म पर तैनात होकर ट्रेन के पहुंचने का इंतजार करने लगे।

ट्रेन के पहुंचते ही संबंधित कोच में जांच की गई तो वह बालक बर्थ में बैठा मिला। पूछताछ में पहले तो वह कुछ भी नहीं बताया। पर बाद में आरपीएफ को जानकारी दी। वह पटना जिला का निवासी है और स्वजनों ने बेवजह डांट दी थी। इससे गुस्सा होकर घर छोड़कर जा रहा हूं। पर कहां जा रहा है वह यह नहीं बताया। बालक कही गुम न हो जाए और स्वजन परेशान न हो, इसलिए उसे उसलापुर स्टेशन में ही उतार लिया गया। हालांकि वह नहीं उतरने की बात कहता रहा। पर सुरक्षा के मद्देनजर बालक को समझा बुझाकर उतारा। इसके बाद आरपीएफ आउट पोस्ट में लाए। बाद में चाइल्ड लाइन को इसकी जानकारी दी गई। इस पर टीम पहुंची। टीम के सदस्यों ने भी समझाया। इसके बाद उसे चाइल्ड लाइन ले आए।

Posted By: Abrak Akrosh

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close