बिलासपुर। अधिकांश रेल मंडल अधोसंरचना से जुड़े कार्य हो रहे हैं। इसका असर ट्रेनों के परिचालन पर पड़ रहा है। इस परिस्थिति में चलने वाली ट्रेनों में प्रतीक्षा सूची भी बढ़ गई है। 22647 कोरबा-कोचुवेली एक्सप्रेस की स्थिति भी कुछ इसी तरह है। स्लीपर कोच में प्रतीक्षा सूची बढ़ने के कारण इसे एक दिन अतिरिक्त स्लीपर जोड़कर चलाने का निर्णय लिया गया।

यह ट्रेन बुधवार को एक अतिरिक्त स्लीपर कोच के साथ शाम 19:40 बजे कोरबा से रवाना होगी। इस एक कोच के लगने से प्रतीक्षा सूची कम तो होगी पर सभी यात्रियों को राहत नहीं मिलने वाली है। आवश्यकता एक और कोच की है। पर रेलवे चाहकर भी इसमें एक कोच नहीं जोड़ सकती। दरअसल किसी भी ट्रेन में कोच प्लेटफार्म की लंबाई के मुताबिक होते हैं।

यदि क्षमता से अधिक कोच जोड़ दिए गए थे वह प्लेटफार्म के बाहर खड़े होंगे। इससे यात्रियों को परेशानी ही होगी। रेलवे के अनुसार यह सुविधा केवल एक दिन के लिए दी जा रही है। यदि वापसी में भीड़ की स्थिति यही रही तो कोचुवेली भी एक अतिरिक्त स्लीपर जोड़कर ट्रेन चलाई जा सकती है। हालांकि इस पर अभी निर्णय नहीं हुआ है।

गुरुवार की रात 10 बजे से यह फाटक रहेगा बंद

बिलासपुर रेल मंडल के अंतर्गत सक्ती - झाराडीह स्टेशनों के मध्य किमी 634/26-28 पर स्थित मानव सहित समपार सोंठी फाटक को 20 जनवरी की रात 10 बजे से 21 जनवरी की सुबह 10 बजे तक बंद रखा जाएगा। इसके बाद यह खुला रहेगा। पर 22 जनवरी की रात 10 बजे से 23 जनवरी की सुबह 10 बजे तक फिर से बंद रखा जाएगा। दरअसल रेलवे यहां वार्षिक मरम्मत कार्य करा रही है। फाटक बंद होने की स्थिति में यातायात के लिए वैकल्पिक व्यवस्था पास स्थित टेमर फाटक से की गई है।

Posted By: Yogeshwar Sharma

NaiDunia Local
NaiDunia Local