बिलासपुर। Bilaspur Railway News: दुर्ग से जम्मूतवी के बीच चलने वाली स्पेशल ट्रेन के यात्रियों को राहत मिलेगी। दोपहर दो बजे पहुंचने वाली इस ट्रेन में पेंट्रीकार कोच लगी रहेगी। इससे पहले यह ट्रेन बिना पेंट्रीकार के चली। इस दौरान यात्रियों ने सुविधा नहीं मिलने से नाराजगी जाहिर की। इसके लिए मांग उठने लगी थी। इसे देखते हुए आरपीएफ ने टेंडर की प्रक्रिया पूरी की। ग्वालियर की एक कंपनी इसका संचालन करेगी।

यह ट्रेन 18 महीने बाद पटरी पर आई है। दरअसल कोरोना संक्रमण के कारण इसका परिचालन नहीं किया जा रहा था। पिछले दिनों से इसे चलाने का निर्णय लिया गया। जब रेलवे ने इसकी घोषणा की। उसके बाद आइआरसीटीसी ने पेंट्रीकार सुविधा देने के लिए टेंडर भी जारी किया। जिसमें ग्वालियर की एक कंपनी को जिम्मेदारी मिली है। आइआरसीटीसी का कहना है कि ठेका दिसंबर तक के लिए हुआ है। इसके साथ केवल पैकेट बंद ही सामान बेचने की अनुमति होगी। जब तक रेलवे बोर्ड से अनुमति नहीं मिल जाती इस ट्रेन के अलावा अन्य किसी में भी खाना नहीं पकेगा। बोर्ड ने यह पाबंदी कोरोना संक्रमण के कारण लगाई है।

जबकि प्लेटफार्म में संचालित सभी स्टाल व फूड यूनिट में खाना बिक रहा है। इसके अलावा यहां के कर्मचारी प्लेटफार्म वेंडिंग कर अधिकृत तौर पर बिक्री कर रहे हैं। संक्रमण का खतरा तो सभी से हैं। केवल ट्रेन में खाना पकने और उसे कर्मचारी परोसते हैं तो इससे संक्रमण कैसे फैलेगा। ट्रेन में आइआरसीटीसी का एक कर्मचारी मानिटरिंग भी करेगा। इसके लिए एक को नियुक्त भी कर दिया गया है। इसके अलावा बिलासपुर में जब ट्रेन पहुंचेगी, तब आइआरसीटीसी के अधिकारी व कर्मचारी पेंट्रीकार की व्यवस्थाओं का जायजा लेंगे।

Posted By: sandeep.yadav

NaiDunia Local
NaiDunia Local