बिलासपुर। उत्तर प्रदेश के मैनपुरी से बिलासपुर के बीच 23 जनवरी से किसान रेल चलाई जा रही है। 10 फेरे के लिए चलने वाली इस ट्रेन से उत्तर प्रदेश क्षेत्र के किसानों द्वारा फल एवं सब्जियां ढुलाई सुगम, सुचारू, सुरक्षित व कम दामों पर कर सकेंगे। साथ ही इस ट्रेन से किसानों और उपभोक्ताओं दोनों को ही फायदा होगा। सड़क परिवहन की अपेक्षा रेल मार्ग कृषि उत्पादों की त्वरित ढुलाई सुनिश्चित में सहायक साबित होगा। भारतीय रेलवे द्वारा किसानों को मदद करने तथा देशभर में कृषि उत्पादों की तेज ढुलाई सुनिश्चित करने के उद्देश से महत्वपूर्ण कदम उठाते हुए किसान रेल चलाई जा रही है।

रेल के तेज परिवहन से उपज नष्ट होने से बचेगी। साथ ही मजबूत सड़क परिवहन के साधन न होने एवं उपज खराब होने के कारण होने वाली क्षति से भी किसानों को राहत मिलेगी। इससे पहले छिंदवाडा एवं हावड़ा के मध्य तीन फेरे के लिए किसान रेल चलाई गई थी। इसे किसानों से बेहतर रिस्पांस मिला। इसे देखते हुए 23 जनवरी से 00412 नंबर के साथ किसान चलाने की योजना बनाई गई है।

उम्मीद जताई जा रही है कि इस ट्रेन को भी प्रतिसाद मिलेगा। किसान रेल 20 पार्सल वाहन, दो एसएलआर सहित 22 कोच के संयोजन के साथ चलाई जा रही है। यह 23 जनवरी से प्रत्येक रविवार को मैनपुरी (उत्तर प्रदेश) से 06:30 बजे प्रस्थान करेगी जो गुड्स मार्शलिंग यार्ड 11:10 पहुंचकर 11:40 बजे रवाना होगी। इसी तरह बांदा जंक्शन 14:35 बजे पहुंचकर 14:45 बजे, सतना 18:30 बजे पहुंचकर 18:40 बजे, कटनी 21:25 बजे पहुंचकर 21:35 बजे रवाना होकर बिलासपुर रेलवे स्टेशन में 05:30 बजे पहुंचेगी।

Posted By: Yogeshwar Sharma

NaiDunia Local
NaiDunia Local