बिलासपुर। Bilaspur Railway News: ट्रेनों को स्पेशल बनकर चलना यात्रियों के लिए मुसीबत बनी हुई है। अतिरिक्त किराए के साथ- साथ खानपान सुविधा पर भी असर पड़ रहा है। इसी का असर है कि बिलासपुर - चेन्न्ई एक्सप्रेस बिना पेंट्रीकार के रवाना हुई। इस ट्रेन से पेंट्रीकार कोच हटा लिया गया है। दरअसल आइआरसीटीसी पेंट्रीकार संचालन के लिए टेंडर की प्रक्रिया पूरी नहीं पाई। इसके चलते यात्रियों को सफर के दौरान परेशानी होगी।

स्पेशल ट्रेन होने के कारण दो या तीन महीने के लिए पेंट्रीकार का ठेका किया जा रहा है। चेन्न्ई एक्सप्रेस में पेंट्रीकार की सुविधा देने के लिए भी यही किया गया। पूर्व में दिए गए ठेके की अवधि समाप्त हो चुकी है। आइआरसीटीसी को अवधि समाप्त होने के पहले नए सिरे से टेंडर जारी कर ठेका देना था। लेकिन वह ऐसा नहीं कर पाया और न ही वैकल्पिक व्यवस्था करने का प्रयास किया गया। इस स्थिति में ट्रेन में लगी पेंट्रीकार को रेलवे ने हटा ली है। ऐसा इसलिए किया गया, क्योंकि पेंट्रीकार कोच खाली व बंद रहता।

इसी स्थिति में ट्रेन गंतव्य तक पहुंचती और लौटती भी। इस स्थिति में पेंट्रीकार भेजने का कोई औचित्य ही नहीं है। विभागीय अड़चनों के चलते सुविधा नहीं मिली। जिसका खामियाजा यात्रियों को भुगतना पड़ेगा। यात्रियों को खानपान के लिए या तो बार- बार ट्रेन से उतरकर स्टेशन में खरीदना पड़ेगा या फिर अवैध वेंडरों से सामान खरीदनी पड़ेगी। एक तरफ रेलवे व आइआरसीटीसी दोनों अवैध वेंडिंग में लगाम कसने का प्रयास कर रहे हैं। वहीं दूसरी तरह वैध तरीके से यात्रियों को सुविधा भी मुहैया नहीं करा पा रहे हैं।

Posted By: sandeep.yadav

NaiDunia Local
NaiDunia Local