Bilaspur News: बिलासपुर। रेलवे संघर्ष समिति ने यात्री ट्रेन की ठहराव की मांग को लेकर रेलवे बोर्ड और रेल मंत्री के नाम खोंगसरा रेलवे स्टेशन प्रबंधक को ज्ञापन सौंपकर ट्रेन के स्टापेज की मांग की।

बिलासपुर कटनी रेल खंड के अंतर्गत आने वाले खोंगसरा स्टेशन पर मार्च 2020 से लाकडाउन के समय से यात्री ट्रेन बंद रही। लाकडाउन हटने के बाद कुछ ट्रेनों का परिचालन प्रारंभ तो किया गया लेकिन उन ट्रेनों को एक्सप्रेस ट्रेन बनाकर छोटे छोटे स्टेशनों पर ठहराव ही नहीं दिया गया। इससे ग्रामीण ट्रेन सुविधा से वंचित ही रहे। जबकि समय समय पर ग्रामीणों के द्वारा यात्री ट्रेन ठहराव के लिए बिलासपुर सांसद अरुण साव, कोटा विधायक डाक्टर रेणु जोगी, रेलवे बोर्ड डिविजन रेलवे मेनेजर एवं ट्वीट के माध्यम से रेल मंत्री से मांग की गई। लेकिन ग्रामीणों को सिर्फ आश्वासन मिला और ग्रामीण अपने आपको ठगा महसूस करने लगे।

जबकि इस क्षेत्र में आवागमन के लिए सबसे महत्वपूर्ण सुविधा रेलवे ही है। जहां ग्रामीण जिला मुख्यालय ब्लाक मुख्यालय कालेज हो या कोर्ट स्वास्थ्य रोजगार इन सबके लिए बिलासपुर पर निर्भर रहना पड़ता है एवं बस से यात्रा करना ग्रामीणों को लगभग बिलासपुर के लिए 120 रुपए तक का किराया देना पड़ रहा है। जिससे ग्रामीणों को आर्थिक परेशानी हो रही है। रेलवे के उदासीन रवैया से परेशान ग्रामीण अब धीरे धीरे लामबंद हो रहे हंै और खोंगसरा रेलवे स्टेशन प्रबंधक के माध्यम से ज्ञापन सौंपकर सूचना दी की ट्रेन की ठहराव अति आवश्यक है अगर अब रेलवे बोर्ड इस पर विचार नहीं करता है तो आसपास के सभी पंचायत के ग्रामीण मिलकर रेल रोको आंदोलन किया जाएगा।

वहीं ग्रामीणों ने मांग किया गया है वर्तमान में बिलासपुर रींवा एक्सप्रेस बिलासपुर इंदौर एक्सप्रेस को रेलवे स्टाफ के आवागमन के लिए अस्थाई रूप में ठहराया जाता है उसी को स्थाई रूप से ठहराव देकर ग्रामीणों की मांग को पूरा किया जाए।

ज्ञापन सौंपने के दौरान संतराम, खोंगसरा सरपंच हेम सिंह, आमागोहन सरपंच सुपेत सिंह, नवागांव शोनसाय, अजहर खान जिला महासचिव बिलासपुर, रवि प्रताप सिंह जिला सचिव कांग्रेस बिलासपुर, रामेश्वर सिंह रेलवे बोर्ड सलाहकार समिति सदस्य समेत बड़ी संख्या में ग्रामीण उपस्थित थे।

क्या कहते हैं ग्रामीण

विगत दो वर्ष हो गए यहां से ट्रेन ठहराव को बंद किए हुए और रेलवे बोर्ड इस ओर कोई ध्यान नहीं दे रहे हैं। जिससे अब ग्रामीणों के मन में रेलवे के प्रति आक्रोश बढ़ता जा रहा है। हमारी मांग है कि खोंगसरा में पूर्व की तरह यात्री ट्रेन की ठहराव हो।

हेम सिंह

सरपंच आमागोहन

पूर्व में रेल मंत्री एवं रेलवे बोर्ड को तीन ठहराव के लिए आवेदन किए है ट्वीट किए लेकिन अभी तक कुछ नहीं हुआ है जबकि इस क्षेत्र की सबसे उचित साधन ट्रेन है लेकिन रेलवे विभाग इस ओर ध्यान नहीं दे रहा

मजीद अहमद

पंच ग्राम पंचायत आमागोहन

खोंगसरा स्टेशन में ट्रेन सुविधा के लिए ज्ञापन सौंपा गया है अगर इस पर विचार नहीं किया गया तो आगे यात्री ट्रेन की सुविधा के लिए ग्रामीणों आंदोलन शुरू करेंगे इसके लिए रेलवे बोर्ड जिम्मेदार होगा।

रवि प्रताप सिंह जिला सचिव कांग्रेस बिलासपुर

पूर्व में तीन ठहराव के विषय में रेलवे बोर्ड से चर्चा हुआ था लेकिन अब तक कोई निर्णय नहीं लिया गया है 24 को होने वाले बैठक में पुन: इस बात को रखूंगा और प्रयास करूंगा इस क्षेत्र को फिर से ट्रेन सुविधा मिल सके।

रामेश्वर सिंह ठाकुर

सदस्य रेलवे सलाहकार समिति बिलासपुर

Posted By: Yogeshwar Sharma

NaiDunia Local
NaiDunia Local