बिलासपुर(नईदुनिया प्रतिनिधि)। इतवारी- बिलासपुर शिवनाथ एक्सप्रेस की चाल एक बार फिर बिगड़ गई। बुधवार को यह ट्रेन दोपहर 12 बजे पहुंची। वापसी से कोरबा से और लेट न हो जाए, इसलिए इसकी जगह पर मेमू की खाली रैक कोरबा भेजा गया। यह रैक कोरबा से बिलासपुर तक शिवनाथ बनकर पहुंचेगी। यहां यात्रियों को उतरना पड़ेगा।

कुछ दिनों पहले यह ट्रेन घंटों विलंब से पहुंची थी। इसी समय पर चलाने के लिए वही किया गया जो बुधवार को किया गया था। यदि ऐसे नहीं करते तो दोबारा परिचालन विलंब से होता। दरअसल इतवारी से पहुंचने के बाद शिवनाथ की रैक का कोचिंग डिपो में सफाई व अन्य मरम्मत का काम होता है।

इसमें पांच से छह घंटे लग जाते हैं। इस स्थिति में ट्रेन देर हो सकती थी। यही वजह है कि जैसे ही इसके इतवारी से विलंब आने की जानकारी मिली रेलवे ने यह निर्णय लिया गया लेट पहुंची ट्रेन का कोचिंग डिपो में सफाई कराई जाएगी। उसकी जगह शहडोल- बिलासपुर मेमू की रैक को कोरबा भेजा जाएगा। दोपहर 2:50 बजे कोरबा के लिए रवाना भी हो गई। पर इसका लाभ यात्रियों को नहीं मिल पाया, क्योंकि अब तक बिलासपुर से कोरबा तक पैसेंजर ट्रेन नहीं चलाई जा रही है।

प्रतिदिन कोच बंद कर भेजे जाते हैं। यात्री इसे पैसेंजर बनाकर चलाने की मांग लंबे समय से कर रहे हैं, लेकिन रेल प्रशासन ध्यान नहीं दे रहे हैं। जबकि इससे यात्रियों को न केवल लाभ मिलेगा,बल्कि रेलवे को राजस्व भी प्राप्त होगा। पर रेलवे को यात्रियों की परेशानी जरा भी नजर नहीं आती।

मालूम हो कि मेमू ट्रेन से शिवनाथ एक्सप्रेस के यात्री बिलासपुर तक पहुंचेंगे। इस ट्रेन के आने से पहले उस खाली रैक की सफाई कर प्लेटफार्म खड़ी कर दी जाएगी। हालांकि इससे यात्रियों को परेशानी होगी पर शिवनाथ एक्सप्रेस समय पर बिलासपुर से रवाना हो जाएगी।

Posted By: anil.kurrey

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close