बिलासपुर। अलग- अलग कारणों से रेलवे ने थोक में ट्रेनें रद कर दी है। इसके चलते जोनल स्टेशन परिसर से लेकर प्लेटफार्म में सन्न्ाटा पसरा हुआ है। अगले कुछ दिनों तक यही स्थिति रहेगी, क्योंकि सोमवार को कुछ ट्रेनें प्रारंभिक स्टेशन से रवाना नहीं हुई। टिकट काउंटर में रेलकर्मी खाली बैठे दिखे।

दोहरीकरण, सेक्शन चौथी लाइन जोड़ने और चक्रवात इन तीन कारणों से रेलवे ने 40 से अधिक ट्रेनों का परिचालन रद कर दिया है। इसके चलते हमेशा यात्रियों से भरा रहने वाला जोनल स्टेशन खाली- खाली दिख रहा है। केवल वही यात्री नजर आ रहे हैं, जिन्हें बिलासपुर से यात्रा प्रारंभ करनी है। यह यात्री भी कुछ देर इंतजार के बाद रवाना हो जा रहे हैं। कुछ ऐसे भी यात्री जिन्हें ट्रेन रद होने की वजह नहीं मालूम वे यही समझ रहे हैं कोरोना के नए वेरिएंट के कारण ट्रेन रद की होगी।

नजारा वैसे ही जैसे कोरोनाकाल में था। ट्रेन की सुविधा नहीं मिलने से यात्री परेशान है। इसकी वजह से कही न कही रेलवे को भी भारी नुकसान हो रहा है। एक तो यात्रियों को पूरा रिफंड देना पड़ रहा है। इसके अलावा ट्रेनों की पार्सल बोगी से आने वाले सामान भी नहीं आ रहा है। जिसके चलते प्लेटफार्म भी खाली रहता है। यह स्थिति अभी कुछ दिन और रहेगी,

क्योंकि ट्रेनों को रद करने का सिलसिला जारी है। 12844 अहमदाबाद- पुरी एक्सप्रेस और 18426 दुर्ग- पुरी एक्सप्रेस इन दोनों ट्रेनों को सोमवार को रद कर दी गई। पुणे से रवाना होने वाली 20821 पुणे- सांतरागाछी भी नहीं छूटी। इसी तरह 12811 एलटीटी-हटिया एक्सप्रेस भी रद रही। इस ट्रेन के यात्री वैकल्पिक व्यवस्था के लिए भटकते रहे।

Posted By: sandeep.yadav

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close