दुर्ग। नईदुनिया प्रतिनिधि

समय पर वेतन भुगतान सहित अन्य मांगों को लेकर निगम के ठेका सफाई कर्मी सोमवार को एक दिन ह़ डताल पर रहे। कामगारों ने शहर में रैली निकाली और मांगों के संबंध में आयुक्त व सहायक श्रमायुक्त को ज्ञापन सौंपा। इससे पूर्व कामगारों ने निगम कार्यालय का घेराव भी किया। कांग्र ेस ने सफाई कामगारों की मांग को जायज बताते हुए ह़ डताल का समर्थन किया।

सफाई कामगार मजदूर संघ छत्तीसग़ ढ के बैनर तले दुर्ग निगम के ठेका सफाई कर्मियों ने वेतन भुगतान सहित अन्य मांगों को लेकर सोमवार को एक दिन के ह़ डताल पर जाने की चेतावनी दी थी। संघ के अध्यक्ष वाल्मिकी सिंह,महामंत्री रविसोनी,अमरनाथ दुबे के नेतृत्व में कामगारों ने सुबह शहर में रैली निकाली। रैली इंदिरा मार्केट से निकली और राजेन्द्र पार्क चौक पहुंची। राजेन्द्र पार्क से सभी कामगार एकसाथ सहायक श्रमायुक्त कार्यालय पहुंचे और मांगों के संबंध में ज्ञापन दिया। इस दौरान कामगारों को संबोधित करते हुए यूनियन नेताओं ने कहा कि शोषण और प्रता़ डना के विरुद्ध सफाई काम बंद कर ह़ डताल करना प़ ड रहा है यह दुर्भाग्य जनक है। पहले भी निगम प्रशासन को समय पर वेतन भुगतान सहित कामगारों की अन्य मांगों से अवगत कराया जा चुका है लेकिन निगम अपने जिम्मेदारी से बचने का प्रयास करती रही। कामगारों ने ठेका प्रथा का विरोध भी किया। प्रदर्शन के दौरान हितेश सुआडोर,रिकी समुद्रे,लालेन्द्र ब़ ढेल,सावित्री,भगवती,नीतू डोंगरे,अजय खे़ डकर,विष्णु चन्द्राकर,किरण बोइर सहित अन्य लोग मौजूद रहे। विधायक अरुण वोरा ने नगरीय प्रशासन मंत्री अमर अग्र वाल से चर्चा कर सफाई कामगारों का बकाया वेतन जल्द भुगतान कराए जाने की मांग की है।

दस सफाई कामगार बने सुपरवाइजर

निगम आयुक्त ने दस सफाई कामगारों को सफाई सुपरवाइजर के पद पर पदस्थ किया है। आयुक्त ने सफाई व्यवस्था को ध्यान में रखते हुए यह फेरबदल किया है। जिन कामगारों को सफाई सुपरवाइजर बनाया गया है उसमें फूदल सेवते,संजय करोसिया,सुकेश नागेश,शिवनारायण,शोभराज नायक,अनिता कोसरिया,उमा वाल्वे,सुशील खरे,अशोक परिहार और दिनेश सोनटके शामिल हैं। इन सफाई सुपरवाइजरों को क्र मशः वार्ड क्र मांक 1 से वार्ड क्र मांक 10 तक का प्रभार सौंपा गया है। इन वार्डों में पूर्व में पदस्थ रहे सफाई सुपरवाइजरों को हटा दिया गया है।