जगदलपुर। शहर से 22 किलोमीटर दूर चित्रकोट मार्ग पर स्थित छापर भानपुरी गांव के पत्थर खदान में एक नई गुफा मिली है। करीब 40 फीट ऊंची और 100 फीट से भी ज्यादा लंबी गुफा के भीतर कई शैलकक्ष मिले हैं। इस गुफा को बीते सप्ताह खदान के कुछ मजदूरों खोजा है। इससे क्षेत्र के लोग उत्साहित हैं। इधर चित्रकोट वनपरिक्षेत्र के रेंजर आरआर कश्यप ने इस इलाके का सर्वे करने कुछ वनकर्मियों को आदेशित किया है। तोकापाल ब्लॉक का छापर भानपुरी का इलाका पत्थर खदानों के लिए चर्चित है। यहां कई क्रशर प्लांट संचालित हैं। यहां की एक खदान में बीते सप्ताह पत्थर तोड़ने के पूर्व विस्फोट किया गया था।

विस्फोट के बाद मजदूरों को दो चट्टानों के मध्य गहरी खाई नजर आई। मजदूरों ने पत्थर तोड़ तथा मिट्टी हटाकर गुफा में प्रवेश किया। बताया गया कि गुफा करीब 40 फीट ऊंची 30 फीट गहरी व सौ फीट से भी ज्यादा लंबी है।

भाभी के साथ आपत्तिजनक हालत में दिखा प्रेमी, देवर ने कर दी हत्या

संकरे मार्ग से अंदर प्रवेश करने पर कई छोटे-छोटे शैलकक्ष भी नजर आए। स्थानीय ग्रामीण इसे देव स्थान बता बाहरी लोगों को प्रवेश करने नहीं दे रहे हैं। कार्बोनेट शिलाओं से निर्मित गुफा पीजी कॉलेज के भूगर्भशास्त्री अमितांशु झा बताते हैं कि छापर भानपुरी का इलाका लाइम स्टोन से भरा पड़ा है।

रायपुर : अवैध संबंध ने किया इनकार, जीजा ने साली को जिंदा जलाया

इस इलाके में प्रागैतिहासिक काल की चट्टानें हैं। छापर भानपुरी में मिली गुफा अभी निर्माण प्रक्रिया में है। पत्थरों की दरारों से होकर बारिश का पानी गुफा में प्रवेश किया है, इसलिए गुफा में जमी मिट्टी में भी कैल्शियम तत्व हैं। पूरी गुफा कार्बोंनेट चट्टानों से बनी है। अभी इस गुफा का पूर्ण सर्वे व अध्ययन किया जाना बाकी है।

पत्नी ने कराई मर्चेंट नेवी इंजीनियर पति की हत्या, तीन गिरफ्तार

Korba Murder : हत्या के बाद निर्वस्त्र अवस्था में महिला की लाश दफनाई

पति-पत्नी में झगड़ा, परेशान पड़ोसी ने पड़ोसन के गाल पर दांत से काटा

Posted By: Sandeep Chourey

fantasy cricket
fantasy cricket