जगदलपुर। jagdalpir News : बस्तर में यात्री ट्रेनों की संख्या बढ़ने पर साफ-सफाई के लिए यहां स्टेशन यार्ड में वाशिंग लाइन का निर्माण रेलवे ने अधर में छोड़ दिया है। वाशिंग लाइन का निर्माण चार साल पहले शुरू किया गया था लेकिन पिछले दो साल से काम पूरी तरह से बंद है। रेलवे के निर्माण से जुड़े स्थानीय प्रशासन के अधिकारी भी काम बंद होने के कारण बताने में खुद को असमर्थ बताने लगे हैं।

सहायक मंडल अभियंता का कहना है कि काम क्यों बंद हुआ? और दोबारा कब प्रारंभ किया जाएगा इसके बारे में वाल्टेयर रेलमंडल मुख्यालय ही सही स्थिति बता सकता है। इधर वाशिंग लाइन का निर्माण बीच में छोड़ने से शाम ढ़लते ही यहां शराबियों का जमावड़ा होने लगता है। शरारती युवक यहां बैठकर आती-जाती ट्रेनों पर कंकड़ पत्थर फेककर मजा लेते हैं। एक दो अवसर तो ऐसे भी आए जब मेन लाइन से लूप लाइन को जोड़ने वाले पाइंट के बीच इनके द्वारा गिट्टी पत्थर डाल देने से सिंग्नल तक फेल हुए थे।

इसके बाद वाशिंग लाइन में बीच-बीच में रेल सुरक्षा बल के जवानों की गश्त में ड्यूटी लगाई जाने लगी है। करीब दो करोड़ रुपये की लागत से वाशिंग लाइन का निर्माण जगदलपुर स्टेशन में स्वीकृत है। जिस ओर स्थानीय प्रशासन ही नहीं वाल्टेयर रेलमंडल प्रशासन भी गंभीर नहीं है।

छह यात्री ट्रेनें चल रही केवल एक

बस्तर को रेल सेवा से जोड़ने छह यात्री ट्रेनें मिली हैं लेकिन कोरोना संक्रमण काल में लाकडाउन के बाद वर्तमान में केवल एक यात्री ट्रेन जगदलपुर-विशाखापट्टनम के बीच स्पेशल के रूप में चलाई जा रही है। हावड़ा-जगदलपुर समलेश्वरी एक्सप्रेस, भुवनेश्वर-जगदलपुर हीराखंड एक्सप्रेस, जगदलपुर-राउरकेला एक्सप्रेस, जगदलपुर-दुर्ग एक्सप्रेस और किरंदुल-विशाखापट्टनम नाइट एक्सप्रेस ट्रेन 25 मार्च 2020 से ही बंद हैं। 450 किलोमीटर लंबी किरंदुल-कोत्तावालसा रेललाइन में केवल कोरापुट जंक्शन में ही वाशिंग लाइन है। इसके अलावा रेलमार्ग में स्थित 47 अन्य स्टेशनों में किसी भी जगह वाशिंग लाइन नहीं है। जगदलपुर में वाशिंग लाइन का निर्माण रोके जाने को लेकर अधिकारी दो तरह की बात कर रहे हैं।

आधिकारिक बयान देने से बच रहे अधिकारियों में नाम नहीं छापने की शर्त पर एक अधिकारी ने बताया कि जगदलपुर से संचालित होने वाली समलेश्वरी एक्सप्रेस ही ऐसी ट्रेन है जो रात 11 बजे यहां आकर दूसरे दिन सुबह चार बजे यहां से छूटती है। इसके अलावा अन्य कोई भी ट्रेन ज्यादा समय तक यहां रूकती नहीं है इसलिए ट्रेनों की धुलाई के लिए समय नहीं मिलेगा यह सोचकर वाशिंग लाइन का निर्माण रोका गया होगा।

एक अन्य अधिकारी का कहना है कि जगदलपुर स्टेशन अभी वाल्टेयर रेलमंडल में शामिल है और जल्दी ही यह नए बनने जा रहे रायगढ़ा रेलमंंडल में शामिल हो जाएगा। ऐसी स्थिति में वाल्टेयर रेलमंडल वाशिंग लाइन पर अपना पैसा खर्च करने से बच रहा है।

Posted By: Ravindra Thengdi

NaiDunia Local
NaiDunia Local