जगदलपुर। स्टेशन में प्लेटफार्म नंबर एक की ऊंचाई बढ़ाने के लिए जारी निर्माण कार्य की सुस्त रफ्तार अब यात्रियों के लिए परेशानी का कारण बनती जा रही है। एक साल से अधिक समय से इस प्लेटफार्म की ऊंचाई बढ़ाने का काम चल रहा है। निर्माण कार्य पूरा करने निर्धारित समयसीमा से छह माह अधिक हो चुके हैं पर न तो निर्माण एजेंसी काम जल्दी पूरा करने को लेकर गंभीरता बरत रही है न ही रेल के स्थानीय जिम्मेदार अधिकारी ही संवेदनशील हैं।

निर्माण एजेंसी और रेल अधिकारियों की उदासीनता का परिणाम यात्री भुगत रहे हैं। प्लेटफार्म में एक छोर से लेकर दूसरे छोर तक रेत, पत्थर और टायल्स का भंडारण करके छोड़ दिया गया है। रेल यात्री कभी-कभार यहां वहां बिखरी निर्माण सामग्री से टकराकर गिर रहे हैं। यह प्लेटफार्म स्टेशन का सबसे प्रमुख प्लेटफार्म है। वर्तमान में यहां से संचालित दोनों यात्री ट्रेनों हीराखंड और राउरकेला एक्सप्रेस इसी प्लेटफार्म पर आती हैं और यहीं से छूटती हैं। किरंदुल स्पेशल ट्रेन भी इसी प्लेटफार्म से होकर गुजरती है। ट्रेनों के आने-जाने के समय प्लेटफार्म पर यात्रियों की काफी भीड़ हो रही है।

साल भर से बंद रहा ट्रेनों का संचालन

कोरोना संक्रमण की पहली और दूसरी लहर के दौरान यात्री ट्रेनों का संचालन एक साल से अधिक समय तक बंद रहा है। यहां से चलने वाली आधा दर्जन यात्री ट्रेनों में भी केवल तीन का ही संचालन किया जा रहा है। यात्री ट्रेनें जब तक बंद थी तब निर्माण कार्य को लेकर ध्यान नहीं दिया गया। बीच-बीच में कई-कई सप्ताह काम बंद रखने का परिणाम है कि निर्माण कार्य पूरा होने में विलंब हो रहा है। स्टेशन के रेल अधिकारियों से यात्रियों को होने वाली परेशानियों को लेकर चर्चा करने पर कहा गया कि इस सवाल का जवाब निर्माण की देखरेख करने वाले अधिकारी देंगे।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local