जगदलपुर। रविवार रात किरंदुल-कोत्तावालसा रेललाइन के किरंदुल रेल सेक्शन में बचेली-भांसी स्टेशनों के बीच मालगाड़ी के सात डिब्बे पटरी से उतर गए। इनमें तीन डिब्बे आपस में टकराकर बुरी तरह से क्षतिग्रस्त हो गए, जबकि चार डिब्बों को आंशिक नुकसान हुआ है।

घटना रात 10.40 बजे जगदलपुर से 130 किलोमीटर दूर बचेली स्टेशन के समीप की है। मालगाड़ी बचेली स्थित एनएमडीसी (नेशनल मिनरल डेवलपमेंट कार्पोरेशन) के औद्योगिक खनन क्षेत्र से लौह अयस्क भरकर विशाखापट्टनम के लिए निकली थी। बचेली स्टेशन यार्ड छोड़ने के पांच मिनट के अंदर ही जोरदार झटके के साथ मालगाड़ी के इंजिन के पीछे के सात डिब्बे पटरी से उतर गए। नक्सल प्रभावित इलाका होने से ट्रेन के चालक-गार्ड घटना के बाद दहशत में आ गए और रात में ही ट्रेन छोड़कर पैदल बचेली स्टेशन पहुंच गए थे।

शुरू में घटना को रेललाइन में तोड़फोड़ से जोड़कर देखा जा रहा था लेकिन दूसरे दिन सोमवार को घटना की प्रारंभिक जांच में रेलमार्ग के रखरखाव में कमी की बात सामने आई। घटना के बाद आधी रात को ही बचेली-किरंदुल से रिलीफ ट्रेन और क्रेन के साथ अधिकारी- कर्मचारी घटनास्थल पहुंच गए थे लेकिन अंधेरा होने और संवेदनशील क्षेत्र के कारण रात में इंतजार किया गया व सोमवार सुबह क्षतिग्रस्त डिब्बों को क्रेन से हटाने का काम शुरू हुआ। दोपहर तीन बजे तक बेपटरी हुए डिब्बों को पटरी पर लाने में सफलता मिल गई थी लेकिन ओएचई (ओव्हर हेड इलेक्ट्रिक) और क्षतिग्रस्त रेललाइन की मरम्मत में समय लगने के कारण आवागमन शुरू नहीं किया जा सका था।

20 ट्रेनों का आवागमन पूरी तरह ठप

किरंदुल रेल सेक्शन में सिंगल लाइन होने के कारण इस दुर्घटना के बाद करीब बीस घंटे ट्रेनों का आवागमन पूरी तरह से ठप रहा। मौके पर पहुंचे कुछ अधिकारियों ने फोन पर बताया कि सोमवार देर शाम तक रेल आवागमन शुरू कर दिया जाएगा। इधर इस घटना के कारण लौह अयस्क की ढुलाई प्रभावित होने से रेलवे और एनएमडीसी को सात करोड़ रुपये से अधिक के नुकसान होने की आशंका जताई गई है।

ढाई घंटा पहले उसी ट्रेक से गुजरी थी एक्सप्रेस ट्रेन

मालगाड़ी दुर्घटना के तीन घंटा पहले रात करीब आठ बजे विशाखापट्टनम-किरंदुल स्पेशल एक्सप्रेस ट्रेन उसी ट्रेक से गुजरी थी। घटना के कारण रेललाइन बाधित होने से सोमवार को किरंदुल-विशाखापट्नम एक्सप्रेस ट्रेन को किरंदुल में रद करना पड़ा। उधर विशाखापट्टपम से किरंदुल जाने वाली एक्सप्रेस ट्रेन को जगदलपुर से 116 किलोमीटर पहले ओड़िशा के कोरापुट जंक्शन में रद कर वहीं से डाउन ट्रेन बनाकर दोपहर दो बजे वापस विशाखापट्टनम के लिए रवाना कर दिया गया।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local