कांकेर । कोरोना काल में कार्य करने के लिए शासन की योजना के तहत मितानिनों व मितानिन प्रशिक्षकों को प्रोत्साहन राशि दी जानी थी। लंबे इंतजार के बाद मितानिनों व प्रशिक्षकों के खाते में प्रोत्साहन राशि पहुंची तो जरूर लेकिन खातों से राशि डालने के बाद अब उसे वापस निकालने का मामला सामने आ रहा है। मितानिनों के खाते से प्रोत्साहन राशि वापस काट लिए जाने से मितानिनों में नाराजगी है। नाराज मितानिनों ने मामले की शिकायत कलेक्टर से की है और समस्या का समाधान नहीं होने पर आंदोलन की बात भी कही है।

कोरोना संक्रमण काल में मितानिनों की महत्वपूर्ण भूमिका रही। जिसे देखते हुए शासन ने मितानिनों को प्रति माह एक हजार रुपये और मितानिन प्रशिक्षकों को प्रतिमाह 500 रुपये प्रत्योहन राशि के रूप में दिये जाने की घोषणा की थी। लंबे समय तक मितानिन प्रोत्साहन राशि मिलने का इंतजार कर रही थी। प्रोत्साहन राशि प्राप्त करने के लिए मितानिनों को प्रशासन को ज्ञापन भी सौंपा था। जिसके बाद सितंबर माह में मितानिनों व मितानिन प्रशिक्षकों के बैंक खाते में छह माह की प्रोत्साहन राशि डाली गई थी। लेकिन अचानक ही अब मितानिनों की खाते से डाली गई राशि वापस काटी जा रही है। खाते से राशि वापस होने से मितानिनों में नाराजगी देखने को मिल रही है।

जिसके चलते मामले की शिकायत लेकर गुरुवार को कांकेर व नरहरपुर क्षेत्र के मितानिनों का प्रतिनिधि मंडल जिला कार्यालय पहुंचा और उन्होंने अपनी समस्या कलेक्टर को बताई। मितानिन राजेश्वरी सेन ने कहा कि कांकेर ब्लाक में 481 मितानिन व 22 मितानिन प्रशिक्षक हैं। जिन्होंने कोरोना काल में लगातार अपनी सेवाएं दी है। जिसके लिए मितानिनों को प्रति माह 1 हजार रुपये की दर से प्रोत्साहन राशि दिया जाना था। लेकिन मितानिनों को केवल छह माह का ही प्रोत्साहन राशि का भुगतान पिछले महीने किया गया था। वहीं, इस महीने खाते से उक्त छह हजार रुपये को वापस काट लिया गया है। प्रोत्साहन राशि पर मितानिनों का अधिकार है और उनकी मेहनत की कमाई को वापस लिया जाना उचित नहीं है। जिसकी शिकायत लेकर हम कलेक्टोरेट पहुंचे थे। यदि हमारी मांग पूरी नहीं होती है, तो हम आंदोलन करने पर विवश होंगे। इस दौरान ब्लाक समंवयक गनेशिया शोरी, मेम सिंहा, मितानिन प्रशिक्षक डोमिता चंद्रवंशी, विनिता सुरोजिया, मितानिन डिकुनतला साहू, उषा चौरसिया, पुनिता उइके आदि मौजूद थीं।

नरहरपुर में मितानिनों के खाते में नहीं आई राशि

नरहरपुर से पहुंची गनेशिया शोरी ने बताया कि नरहरपुर ब्लाक में 432 मितानिन व 23 मितानिन प्रशिक्षक है। कोरोना काल में कार्य करने के लिए मितानिनों को प्रोत्साहन राशि नहीं मिली है। मितानिन प्रशिक्षकों के खाते में प्रोत्साहन राशि आई थी, लेकिन उसे भी वापस निकाल लिया गया। हमारी मेहनत के लिए हमें जो राशि मिलनी थी, वहीं नहीं मिली है, जो हमारे अधिकारों का हनन है। जिससे हमारा विश्वास भी डगमगा रहा है कि भविष्य में काम कैसे करेंगे।

पूरे कोरोना काल की प्रोत्साहन राशि का हो भुगतान

मितानिनों ने बताया कि कई मितानिनों ने प्रोत्साहन राशि खाते में आने के बाद राशि अपने खाते से निकाल ली थी। जिसके चलते हर महीने मिलने वाली प्रोत्साहन राशि से उक्त रकम को काटा जा रहा है। जो उचित नहीं है। शासन प्रशासन को मितानिनों व मितानिन प्रशिक्षकों को पूरे कोरोना काल की प्रोत्साहन राशि का भुगतान किया जाना चाहिए।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local