अंतागढ़। अंतागढ़ मुख्य मार्ग से रेलवे स्टेशन तक जाने वाली सड़क दो दिनों की लगातार वर्षा के बाद और भी जर्जर हो गई, लोगों को दो पहिया वाहन एवं चार पहिया वाहनों से स्टेशन पहुंचने में काफी मशक्कत करनी पड़ रही है।

जानकारी के अनुसार रेलवे स्टेशन से अंतागढ़ मुख्य मार्ग तक की सड़क रेलवे के ठेकेदार द्वारा बनाया गया था, जिसकी लंबाई 1.8 किलोमीटर है एवं इसकी लागत 3 करोड़ 40 लाख रुपये है, किंतु पहले से ही बनी सड़क पर संबंधित ठेकेदार द्वारा जो सड़क बनाई गई है उसकी गुणवत्ता दो दिनों की वर्षा में ही दिखने लगी।

बता दें इस मार्ग पर एक पुल भी बनाया गया है जो कि पहले बने पुल से ऊंचाई में और भी कम है जिसकी वजह से दो दिनों तक हुई वर्षा से पानी पुल के ऊपर से बहने से मार्ग लगभग पूरी तरह बाधित रहा, बावजूद इसके सड़क जाम होने की स्थिति में बसों के न चलने की वजह से स्टेशन पहुंचने वालों की संख्या बहुत अधिक बढ़ गई, लोग मुश्किल से पानी भरे पुल को पार करते हुए स्टेशन पहुंचे। लेकिन इस सड़क में हुए गड्ढों से कई लोगों की गाड़ियां क्षतिग्रस्त हो गई, लोगों का कहना है जो सड़क पहले थी वही बेहतर थी ठेकेदार द्वारा बनाई गई सड़क जो करीब चार से पांच महीने पहले ही तैयार की गई थी उसका इस तरह जर्जर हो जाना विभाग एवं ठेकेदार द्वारा कराए गए कार्य पर सवालिया निशान खड़ा करता है। आम आदमी पार्टी के यूथ विंग के जिला अध्यक्ष संत सलाम का कहना है की हम आजादी का अमृत महा उत्सव मना रहे हैं लेकिन वास्तविकता यह है कि उत्सव में अमृत सिर्फ भ्रष्टाचारियों को मिला है, आजादी से पहले बने कई भवन सड़क और उद्यान आज भी वैसे ही है जैसे आजादी के सालों पहले से थे, आप भ्रष्टाचार का अंदाज इसी से लगा सकते हैं की आजाद देश में आज जो निर्माण कार्य किए जाते है वो महज कुछ महीनों में ही जर्जर अवस्था में बदल जाते हैं।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close