python trapped in poultry farm: कोरबा। शहर के गोकुल नगर में संचालित पोल्ट्री फार्म में आ धमके सात फीट लंबे अजगर ने दो मुर्गियों को खा लिया और पेट फूलने के कारण बाहर नहीं निकल सका। इसकी सूचना फार्म संचालक ने सर्प मित्र जितेंद्र सारथी को दी। उसने रेस्क्यू कर अजगर को सुरक्षित बाहर निकाला।

जिले में प्रतिदिन घरों में सांप निकलने की घटनाएं सामने आ रही हैं। इसी तरह की एक घटना जिला जेल के पीछे गोकुल धाम देखने को मिला। देवेंद्र शर्मा यहां पोल्ट्री फर्मा का संचालन करते हैं। शुक्रवार की सुबह वे अपने फार्म में पहुंचे और देखा कि एक अजगर पोल्ट्री फार्म से बाहर निकलने का प्रयास कर रहा है। उसकी हलचल से फार्म की मुर्गियों इधर—उधर भाग रही हैं। पेट फूलने के कारण अजगर बाहर नहीं निकल पा रहा है। अजगर की स्थि​ति देखकर देवेंद्र को समझने में देर न लगी कि अजगर ने मुर्गियों का शिकार कर लिया है। उसे मारने के बजाए देवेंद्र ने इसकी सूचना सर्प मित्र जितेंद्र सारथी को दी। थोड़ी ही देर में घटना स्थल पर पहुंचे जितेंद्र ने रेस्क्यू कर सांप को पोल्ट्री फार्म से बाहर निकाला। मुर्गियों को गिनने के बाद पता चला कि दो मुर्गियों कम है। सर्प मित्र ने सांप को बोरे में भरकर सुरक्षित स्थान में छोड़ा।

12 फीट के अजगर को स्नैक कैचर ने निकाला बाहर

वर्षा शुरू होते जहरीले जीव जंतु घरों में घुसने लगे हैं। लक्ष्‌मण सिंह राजपूत अपने मकान के पीछे कुछ पलते मवेशियों को बांधते हैं। यहां बनाए गए पानी टंकी के उपर एक 12 फिट का अजगर था। परिवार के सदस्यों ने अजगर को देख इसकी जानकारी सर्प मित्र शेषबन गोस्वामी को दी। इसी बीच अजगर यहां रखे बास—बल्ली के ढेर में घुसने का प्रयास करने लगा। सर्प मित्र शेषबन ने अपने टीम के सदस्यों के साथ मिलकर अजगर को बांस—बल्ली के ढेर में घुसने से पहले ही पकड़ लिया। चार लोगों के सहयोग से एक घंटा मशक्कत के बाद अजगर को पकड़ा गया। अजगर को देखने वालों की भीड़ लग गई। अजगर को विजयघाटी के जंगल में सुरक्षित छोड़ दिया गया।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close