कोरबा (नईदुनिया प्रतिनिधि)। रेलखंड के कोथारी स्टेशन के पास दशहरा पर पुतला दहन का उत्सव पटरियों के पास मनाया जाता है। ऐसे में कोई उत्सव के उत्साह में पटरियों पर जाकर जान जोखिम में न डाले, इसे ध्यान में रखते हुए सुरक्षा के विशेष इंतजाम किए जा रहे हैं। रेलवे सुरक्षा बल कोरबा पोस्ट की टीम विजय दशमी पर कोथारी में तैनात रहेगी, ताकि पंजाब में कुछ साल पहले हुए दर्दनाक हादसे की संभावना से बचा जा सके।

कुछ साल पहले ट्रेन के नीचे आने पंजाब में रेलवे लाइन के किनारे दर्शन के लिए आए श्रद्धालुओं की मौत की एक बड़ी घटना सामने आई थी। इस घटना से सबक लेते हुए अब रेल प्रशासन की ओर से हर साल नवरात्र व दशहरा के लिए सुरक्षा का विशेष ध्यान रखने दिशा-निर्देश जारी करता है। इसी तरह कोरबा रेलखंड के कोथारीरोड के फाटक के पास भी लोग ट्रैक के किनारे ही हर साल दशहरा पर पुतला दहन कर उत्सव मनाते हैं। रेलवे के निर्देश को ध्यान में रखते हुए शुक्रवार को विजय दशमी की शाम रेलवे सुरक्षा बल की टीम कोथारी में तैनात रहेगी। जिला पुलिस के साथ समन्वय स्थापित करते हुए आमजनों की सुरक्षा सुनिश्चित करेगी। कोथारीरोड में ट्रैक के किनारे फाटक के पास हर साल रावण दहन का उत्सव मनाया जाता है। उत्सव के आवेश में इस स्थल पर ट्रैक में आने से किसी प्रकार की दुर्घटना न हो और पंजाब की उस दर्दनाक घटना जैसी स्थिति निर्मित न हो, इस बात का ध्यान रखते हुए खास इंतजाम किए जा रहे हैं।

ताकि न हो पंजाब की तरह दर्दनाक दुर्घटना

रेलवे सुरक्षा बल कोरबा पोस्ट ने जिला पुलिस के साथ समन्वय स्थापित किया है और पर्व के दिन तैनात रहते हुए लोगों की सुरक्षा सुनिश्चित करेंगे। रेलवे सुरक्षा बल कोरबा पोस्ट के प्रभारी व निरीक्षक कुंदन कुमार झा ने बताया कि जिला पुलिस एवं आरपीएफ की टीम मिलकर यहां तैनात रहेगी, ताकि पंजाब की तरह की दुर्घटना से बचा जा सके ओर आम जनों के उत्सव को निर्बाध एवं सुरक्षित रूप से सौहार्द्र पूर्ण वातावरण में पूर्ण कराने की व्यवस्था सुनिश्चित रखी जा सके। इसके लिए रेल प्रशासन से जारी दिशा-निर्देशों का पालन करने लोगों को भी जागरुक किया जाएगा।

मड़वारानी स्टेशन में प्रतिदिन टीम की निगाह

मड़वारानी के रेलवे स्टेशन में भी नवरात्र पर इसी तरह की भीड़ होती है। रेलवे सुरक्षा बल कोरबा के प्रभारी व निरीक्षण कुंदन कुमार झा ने बताया कि नवरात्र पर मड़वारानी स्टेशन पर भी दर्शन के लिए आने वाले श्रद्धालुओं को सुरक्षित रखने के लिए भी प्रतिदिन आरपीएफ कोरबा की टीम को वहां भेजा जाता है। पूरे दिन वहां आने-जाने वालों की सुरक्षा और खुली लाइन में उतरने की लापरवाही रोकने वहां चौकसी की जा रही है। मड़वारानी के अलावा शहर स्थित मां सर्वमंगला मंदिर के पास रेलवे क्रासिंग पर भी निगरानी की जा रही है, ताकि कोई पटरियों पर खड़ा न होने पाए।

24 घंटे निगरानी पर रखने के निर्देश

इस संबंध में निर्देश जारी करते हुए कहा गया है कि कई स्थानों पर रेल लाइन के आसपास दुर्गापूजा व रावण दहन किए जाने से कई बार जान-माल के नुकसान की घटनाएं संज्ञान में आई हैं। ऐसे स्थान चिन्हित किए गए हैं। उन स्थानों पर रेलवे सुरक्षा बल की 24 घंटे तैनाती सुनिश्चित करने कहा गया है। इनमें कोथारी स्टेशन भी एक है, जहां दशहरा उत्सव के दौरान सुरक्षा व्यवस्था के लिए विशेष निगरानी करने कहा गया है। रेलवे सुरक्षा बल दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे का हर संभव प्रयास है, कि दशहरा के पावन त्योहार पर किसी भी तरह की अप्रिय घटना न हो।

आमजनों से भी आग्रह, पटरी से दूर मनाएं उत्सव

आम जनों से भी आग्रह किया गया है कि रेल लाइन के पास रावण दहन न करें। ट्रैक व स्टेशनों से दूर किसी सुरक्षित स्थल पर रावण दहन का आयोजन कर खुशियां साझा करें। दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे कोरबा रेलखंड अंतर्गत भी एक ऐसा स्थल है, जहां रेलवे लाइन के बिलकुल करीब पुतला दहन किया जाता है। इसमें कोथारीरोड शामिल है, जहां विजयदशमी का पर्व ट्रैक के किनारे ही मनाया जाता है। रेलवे सुरक्षा बल कोरबा पोस्ट ने इसके लिए जिला पुलिस के साथ समन्वयन किया है और विजयदशमी के दिन कोथारीरोड के रावण दहन उत्सव स्थल में चौकसी की तैयारी की है।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local