रायपुर , LIVE Chhattisgarh Update । बिलासपुर जिले में 5 कोरोना पॉजिटिव मिलने के साथ ही छत्तीसगढ़ में कुल कोरोना संग्रमितों की संख्या 115 हो गई है। इसके अलावा प्रदेश में कई जगह क्वारंटाइन सेंटर में अव्यवस्था और खराब खाना दिए जाने की भी शिकायत मिल रही है। वहीं जांजगीर में क्वारंटाइन सेंटर में एक मजदूर की अचानक तबियत बिगड़ने के बाद मौत होने जा से हड़कंप मच गया है। छत्तीसगढ़ की आज की अन्य ताजा अपडेट जानकारी इस प्रकार है -

अंबिकापुर के गंगापुर मोहल्ले में मिला कोरोना पॉजिटिव

अंबिकापुर। नगर के गंगापुर मोहल्ले में रहने वाले 21 वर्षीय एक लड़के के कोरोना पॉजिटिव आने की सूचना से हड़कंप की स्थिति बनी हुई है। युवक 16 मई को इलाहाबाद से अम्बिकापुर आया था। इसका आरटीपीसीआर जांच के लिए सेम्पल भेजा गया था। जांच रिपोर्ट गुरुवार की दोपहर आने के बाद टीम मौके पर रवाना हो गई है।

कांकेर जिले में मिला पहला कोरोना संक्रमित मरीज

कांकेर। छत्तीसगढ़ के कांकेर जिले में भी अब पहले कोरोना संक्रमित मरीज के मिलने की पुष्टि हो गई है। मिली जानकारी के मुताबिक जिले के दुर्गुकोंदल विकासखण्ड के कलंगपुरी गांव का मामला है। यहां एक युवक 14 मई को मुंबई से गांव पहुंचा था। गांव में प्रशसनिक अमला रवाना हो गया है। इलाके को सील किया जा रहा है। मुख्य स्वास्थ्य एवं चिकित्सा अधिकारी कोरोना संक्रमित होने की पुष्टि की है।

बिलासपुर में श्रमिकों से भरी बस व ट्रेलर के बीच भिड़ंत, चार की मौत

बिलासपुर। नांदघाट टेमरी नेशनल हाईवे पर ट्रेलर और बस की टक्कर। चार लोगो की मोके पर ही मौत हो गई है। बस और ट्रेलर चालक की भी मौत की आ रही खबर। भिड़ंत इतनी जबरदस्त थी कि ट्रेलर चालक की बॉडी अभी भी स्टेयरिंग में ही फंसी हुई है। श्रमिको से भरी बस पुणे से झारखंड जा रही थी।बिसमे मुंगेली के भी दो मजदूरो के होने की जानकारी मिल रही है।

बिलासपुर जिले में कोरोना पॉजिटिव मिलने के बाद बढ़ी चिंता

बिलासपुर। विभिन्न राज्यों से आए जिले के पांच श्रमिकों को कोरोना पॉजिटिव पाया गया है। उनमें से एक को मंगलवार को ही तबीयत बिगड़ने पर परिवार समेत सिम्स में तो अन्य चार को संभागीय कोविड अस्पताल में भर्ती कराया गया है। इसके साथ ही अब जिला प्रशासन से लेकर स्वास्थ्य विभाग की चिंता बढ़ गई है। अब संबंधित इलाकों को कंटेनमेंट एरिया घोषित कर चौकसी बढ़ाई जाएगी। साथ ही वहां के लिए विशेष गाइड-लाइन जारी की जाएगी

बिलासपुर जिले की व्यवस्था पर फिर संशय

बिलासपुर। जिला अभी ग्रीन जोन में था। इसी के तहत यहां बाजार, दुकानों आदि के खुलने के समय का निर्धारण किया गया है। आज से ही दुकानों को शाम छह बजे तक खोलने की अनुमति दी गई है। अब जिले में नए मामले सामने आने पर नए सिरे से विचार किया जाएगा। इसके मुताबिक तय किया जाएगा कि समय में कटौती संबंधित क्षेत्र में किया जाए या संपूर्ण जिले में। शहर में क्या व्यवस्था रहेगी यह भी तय होगा।

क्वारंटाइन सेंटर में श्रमिकों को खाने के पड़े लाले, भोजन की गुणवत्ता बेहद घटिया

बिलासपुर । ग्राम पंचायत देवरी में प्राइमरी और मीडिल स्कूल को क्वारंटाइन सेंटर बनाया गया है। यहां पर गुजरात,पुणे और अन्य प्रदेशों से आए प्रवासी श्रमिकों को ठहराया गया है। भोजन की व्यवस्था की जिम्मेदारी ग्राम पंचायत को दी गई है। पंचायत ने भोजन का जिम्मा गांव के ही एक व्यक्ति को दे दिया है । ये अपने घर पर ही भोजन बनाता है और प्रवासी श्रमिकों को उपलब्ध कराता है। भोजन की गुणवत्ता बेहद घटिया है। शुस्र्आती दिनों में तो प्रवासी श्रमिकों को भात और सब्जी ही खिला रहा था। विरोध करने पर दाल भी बना रहा है। दाल की गुणवत्ता देखकर लगता नहीं कि दाल है। दाल की जगह नमक पानी ही ये प्रवासी श्रमिकों को परोस रहा है। श्रमिकों को सुबह के वक्त न नाश्ता मिल रहा है और न ही चाय। श्रमिकों के साथ छोटे-छोटे बच्चे भी है। बच्चे सुबह से भूखे रहते हैं। दो वक्त भोजन के सहारे ही इनका दिन कट रहा है। खास बात ये कि ग्राम पंचायत ने राशि का आहरण इस व्यक्ति को पहले से ही कर दिया है। इनकी मनमानी के चलते श्रमिकों को कोरन्टाइन सेंटर में भूख रहना पड़ रहा है।

लॉकडाउन के बीच शुरू हुआ एफओबी का निर्माण

बिलासपुर। जोनल स्टेशन में लॉकडाउन के बाद से बंद फुट ओवरब्रिज का निर्माण फिर से शुरू हो गया है। मंगलवार से ठेकेदार ने काम चालू कराया है। यह ब्रिज यात्रियों के लिए बड़ी सुविधा है। इससे प्लेटफार्म दो- तीन या चार- पांच के यात्रियों को प्लेटफार्म एक पर आकर सीढ़ियां चढ़ने की झंझट नहीं रहेगी। बाहर से एफओबी के जरिए चारों प्लेटफार्म पर पहुंच सकते हैं। ब्रिज के साथ- साथ लिफ्ट व चलित सीढ़ी की सुविधा भी देनी है। इसके लिए काम प्रारंभ हो गया है। ठेकेदार को काम में गति लाने के लिए निर्देश दिए गए हैं।

आज दिल्ली के लिए रवाना होगी ट्रेन

बिलासपुर। राजधानी एक्सप्रेस का परिचालन सप्ताह में दो दिन किया जा रहा है। आज दोपहर 2.40 बजे जोनल स्टेशन से यह ट्रेन रवाना होगी। यह ट्रेन पैक है। हालांकि बिलासपुर से कितने यात्री चढ़ेंगे इसका आंकड़ा आज स्पष्ट होगा।

24 घंटे में मिले 5 केस, अब कोरोना की दहशत में जिलेवासी

रायगढ़। जिले में 24 घंटे में कोरोना के 5 केस मिलने के बाद से जिलेवासियों में दहशत फैल गयी है। मंगलवार रात को 2 ओर बुधवार को कोरोना के तीन पॉजिटिव केस मिले हैं। जो हाल ही में महाराष्ट्र से वापस लौटे थे तीनों पुरुष हैं ये तीनोंं 18 मई को रायगढ़ पहुंचे थे जहां एम सी एच अस्पताल में उनकी स्क्रीनिंग कर सैम्पल लिया गया तथा जिला पंचायत के सामने बने क्वारेंटीन सेंटर में रखा गया था। रायगढ़ मेडिकल कालेज में सैम्पल की जांच उपरांत रिपोर्ट पॉजिटिव आयी जिसके पश्चात प्रशासन ने तत्काल स्वास्थ्य विभाग के दिशा-निर्देशों के तहत कार्यवाही प्रारंभ की ओर क्वारेंटीन सेंटर के आसपास के इलाके को कन्टेनमेंट जोन घोषित करते हुए सेंटर पहुंचने वाले रास्तें को आवागमन के लिये बंद कर दिया गया है।

बिजली वितरण क्षेत्र का निजीकरण के प्रस्ताव का जनता यूनियन ने किया विरोध

कोरबा। कोयला खदान को कमर्शियल माइनिंग में देने के केंद्र के फैसले का श्रमिक संगठन प्रतिनिधि विरोध कर रहे हैं और आंदोलन की तैयारी में जुटे हैं। इस बीच केंद्रीय वित्त मंत्री के बिजली वितरण क्षेत्र का निजीकरण का बयान सुनकर बिजली कर्मियो में नाराजगी बढ़ गई है और श्रम संगठन विरोध में उतर आए हैं। विद्युत कर्मचारी जनता यूनियन ने कहा है कि संक्रमण काल में भी बिजली कर्मी निरंतर अपनी सेवाएं देते रहे, इससे आमजनों को बिजली आपूर्ति लगातार बहाल रही। ऐसे वक्त पर कर्मियों को प्रोत्साहित करने के बजाए निजीकरण कर हत्तोसाहित किया जा रहा है। सरकार अपना फैसला वापस नहीं लेती है तो नेशनल कोअर्डिनेशन कमेटी अफ इलेक्ट्रिसिटी इम्पलाईज एन्ड इंजीनियर्स (एनसीसीओईईई) की अगुवाई में देश भर के 15 लाख बिजली कर्मी आंदोलन का रास्ता अख्तियार करेंगे।

क्वारेंटाइन सेंटर में तबियत बिगड़ने से हुई मज़दूर की मौत

जांजगीर। आज सुबह लगभग 3 बजे मुलमुला के कवारेंटाइन सेंटर में एक मजदूर की तबियत बहुत ज्यादा खराब हो गयी। इसकी सूचना पामगढ़ ब्लाक के संजीवनी एक्सप्रेस 108 को मिलने पर मज़दूर को पामगढ़ सीएचसी लाया गया जहां डॉक्टर सौरभ यादव ने उसे मृत घोषित कर दिया ।डॉक्टर ने बताया कि मरीज को हार्ट अटैक आया है। बताया जा रहा है कि मज़दूर बीरबल माहेष्वरी पिता नारायण 35 वर्ष जुनाडीह झिलमिली का रहने वाला है जो गुजरात से 19मई को वापस आया था जिसे 14 दिन के लिए मुलमुला के प्राथमिक शाला में कवारेंटाइन किया गया था।डाक्टर ने यह भी बताया कि उसका रेपिड किट से जांच हुई थी जिसमे उसका रिपोर्ट निगेटिव आया था।

Posted By: Sandeep Chourey

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस