रायपुर। छत्तीसगढ़ के नगरीय निकाय क्षेत्रों की झुग्गी बस्ती (स्लम एरिया) में तीन सौ वॉटर एटीएम लगाने के लिए 2100 करोड़ रुपए का प्रस्ताव तैयार किया गया है। नगरीय प्रशासन आयुक्त डॉ. रोहित यादव ने शनिवार को मुख्य सचिव विवेक ढांड की मौजूदगी में आयोजित समीक्षा बैठक के दौरान यह जानकारी दी। उन्होंने बताया कि वॉटर एटीएम में एक रुपए का सिक्का डालने पर पांच लीटर आरओ सिस्टम से फिल्टर किया हुआ स्वच्छ पेयजल प्राप्त होगा।

मुख्य सचिव विवेक ढांड ने वीडियो कान्फ्रेंसिंग के माध्यम से सभी संभागीय कमिश्नरों और कलेक्टरों की बैठक लेकर तैयारी की समीक्षा की। बैठक में मुख्य सचिव ने बताया कि छत्तीसगढ़ में इस वर्ष 16 से 22 मार्च तक राष्ट्रीय ग्रामीण पेयजल एवं स्वच्छता जागरूकता सप्ताह मनाया जाएगा।

जागरूकता सप्ताह के दौरान सभी जिलों की आंगनबाड़ियों, स्कूल और कॉलेजों में स्वच्छता के प्रति बधाों को जागरूक करने विभिन्न गतिविधियां संचालित की जाएं। गांवों में नव-निर्वाचित जनप्रतिनिधियों की भागीदारी सुनिश्चित की जाए। 16 मार्च को ग्राम पंचायतों में विशेष ग्राम सभाओं का आयोजन भी किया जाए।

धान मिलिंग व इमली खरीदी की समीक्षाः

मुख्य सचिव ने धान खरीदी, संग्रहण व मिलिंग की स्थिति, वन समितियों के माध्यम से की जाने वाली इमली की खरीदी की तैयारी की भी समीक्षा की। उन्होंने स्कूलों में स्वीकृत शौचालय निर्माण की प्रगति की समीक्षा करते हुए कलेक्टरों को निर्देश दिए कि निर्माण कार्य 31 मार्च तक पूरा कर लिया जाए और निर्माण कार्यों के फोटोग्राफ्स भी शीघ्र भेजे जाएं।

लोक अदालत 14 मार्च कोः

छत्तीसगढ़ में भी 14 मार्च को राष्ट्रीय लोक अदालत का आयोजन किया जा रहा है। लोक अदालत में मनरेगा व राजस्व के अधिक से अधिक प्रकरण निराकरण के लिए प्रस्तुत किए जाएंगे। मुख्य सचिव ने राजस्व प्रकरणों के लिए जिला स्तर पर नोडल अधिकारियों नियुक्त करने के निर्देश दिए। बैठक में अपर मुख्य सचिव द्वय एमके राउत व अजय सिंह, प्रमुख सचिव एके सामंतरे व सचिव सुब्रत साहू भी मौजूद थे।

Posted By:

NaiDunia Local
NaiDunia Local