Chhattisgarh News: रायपुर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। छत्तीसगढ़ के कवर्धा शहर में हुए सांप्रदायिक दंगा के छह दिन बाद रविवार को पूर्व मुख्यमंत्री डा. रमन सिंह कवर्धा पहुंचे। उन्होंने विवाद के पहले दिन से लापता दुर्गेश देवांगन के स्वजनों से उसके घर जाकर मुलाकात की। इस दौरान दुर्गेश की मां लक्ष्मी देवांगन ने रोते हुए कहा- घटना के बाद पुलिस वाले गाड़ी में बैठाकर ले गए थे, तब से बेटा गायब है। मेरा एक ही बेटा है।

आप पर भरोसा है। कहीं से ढूंढ कर बच्चे को ला दीजिए। इस पर रमन ने कहा-आप अकेला महसूस न करें, हम साथ हैं। जहां तक हो सके कानूनी लड़ाई लड़ेंगे। कवर्धा पहुंचने पर कई परिवारों ने पूर्व सीएम से मुलाकात कर अपने स्वजनों की रिहाई की मांग की। इस पर रमन ने कहा कि आप सभी खुद को अकेला न समझें, हर संभव मदद करंगे।

डा. सिंह ने कांग्रेस पर निशाना साधते हुए कहा कि पौने तीन साल से तुष्टीकरण की राजनीति अपनाई जा रही है। अब तक 100 से अधिक लोगों को गिरफ्तार किया गया है। मंत्रियों के दबाव में प्रशासन द्वारा लोगों को धमकाया जा रहा है। प्रताड़ित करने का प्लान बनाया गया है।

कई ऐसे लोगों पर लाठियां बरसाई गईं जो अपने घर को जा रहे थे। कवर्धा शहर में जो कुछ हुआ, वह गलत हुआ। इसके पीछे पुलिस व प्रशासन की कमजोरी रही। आखिर कवर्धा जैसे शांतिपूर्ण शहर में दंगा कैसे हुआ। इस मामले की न्यायिक जांच जरूरी है।

बता दें कि कवर्धा शहर के भक्त माता कर्मा चौक पर झंडा उतारने के बाद दो संप्रदायों के दंगा हो गया था। विरोध करने वाला दुर्गेश देवांगन पहला युवक था, जिससे मारपीट की गई थी। इसके बाद मामले में प्राथमिकी दर्ज की गई है। दूसरे पक्ष की रिपोर्ट पर दुर्गेश के खिलाफ भी पुलिस ने केस दर्ज किया है।

शहर प्रवेश को लेकर असमंजस

कवर्धा शहर में धारा 144 लागू है। ऐसे में कांग्रेस-भाजपा के नेताओं सहित किसी को भी शहर के भीतर प्रवेश नहीं दिया जा रहा है। शनिवार देर रात को पूर्व सीएम डा. रमन सिंह का प्रोटोकाल आया। ऐसे में प्रशासन के समक्ष असमंजस की स्थिति थी कि उन्हें कवर्धा में एंट्री दी जाए या नहीं। डा. रमन सिंह कवर्धा के मूल निवासी और मतदाता हैं। इस आधार पर उन्हें कवर्धा शहर में प्रवेश दिया गया।

युवक को मेडिकल के लिए लाया गया था, उसके बाद वह घर चला गया था। दो दिन पहले उनके माता-पिता ने शांति रैली के दौरान इसकी जानकारी दी है। युवक की तलाश की जा रही है। - मोहित गर्ग, पुलिस अधीक्षक, कवर्धा

Posted By: Kadir Khan

NaiDunia Local
NaiDunia Local