रायपुर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे के यात्रियों को जल्द ही राहत मिलने की उम्मीद है।कोरोना काल से बंद की गई मासिक पास (एमएसटी) को जल्द ही शुरू करने की कवायद में रायपुर रेलवे मंडल जुटा हुआ है। रेल मंडल ने इसका प्रस्ताव भी पिछले महीने ही रेलवे बोर्ड को भेज दिया है। अब आदेश का इंतजार किया जा रहा है। अफसरों ने संकेत दिया है कि जनवरी के अंत या फरवरी के शुरुआत में इसकी सुविधा मिलनी शुरू होने की उम्मीद की जा रही है। इस सुविधा के शुरू होने से रायपुर रेलवे स्टेशन से रोज सफर करने वाले करीब 30 हजार यात्रियों को लाभ मिलेगा।

कोरोना संकट के नाम पर दो साल से रेलवे ने मासिक पास बंद कर रखा है।इसकी वजह से यात्रियों की जेब ढीली हो रही है। मासिक पास की सुविधा बंद होने से इसका लाभ उठा रहे करीह छह हजार यात्रियों को हर महीने 16 सौ रुपये अधिक खर्च कर ट्रेनों में सफर करने को मजबूर होना पड़ रहा है। रेलवे उपभोक्ता सुरक्षा सलाहकार समिति ने भी पिछले दिनों डीआरएम कार्यालय में हुई बैठक में बंद की गई मासिक पास की सुविधा फिर से शुरू करने पर जोर दिया था। इस पर अफसरों ने कहा था कि यह नीतिगत मसला है। रेलवे बोर्ड को प्रस्ताव भेजा गया है जल्द ही इस पर फैसला लिया जायेगा।

रेलवे मंडल के अफसरों ने बताया कि कोरोना संकटकाल के दौरान रेलवे को करोड़ों का नुकसान उठाना पड़ा है।पिछले डेढ़ साल से स्पेशल के नाम पर सभी ट्रेनों को चलाया जा रहा है और सामान्य किराए में भी बढ़ोतरी की गई है।कोरोना संकटकाल से पहले तक रायपुर रेलवे स्टेशन से रोजाना छह हजार मासिक पासधारी यात्री अलग-अलग ट्रेनों से यात्रा कर पास का लाभ उठाते आ रहे थे।

मासिक पासधारी यात्रियों से ट्रेन टिकट का किराया आधी दर पर लिया जाता था। स्टेशन के मासिक पास काउंटर में छह हजार मासिक पासधारी यात्रियों से रोज 50 हजार रुपये और महीने में 15 लाख रुपए की कमाई होती थी,लेकिन पिछले सवा साल से मासिक पास जारी करना रेलवे प्रशासन ने बंद कर रखा है। ऐसे हालात में बिना मासिक पास के यात्रियों को स्पेशल ट्रेनों के बढ़े हुए किराया देकर सफर करने को मजबूर होना पड़ रहा है।

बिलासपुर रेलवे जोन मुख्यालय को पत्र लिखा

यात्रियों और क्षेत्रीय जनप्रतिनिधि लगातार मासिक पास की सुविधा फिर से शुरू करने की मांग कर रहे है। बिलासपुर रेलवे जोन मुख्यालय को पत्र लिखकर इस मांग से अवगत कराया गया है। जोन और रेलवे बोर्ड से जैसा निर्देश मिलेगा उसका पालन कराया जाएगा। - राकेश सिंह, स्टेशन डायरेक्टर, रायपुर रेलवे स्टेशन

Posted By: Kadir Khan

NaiDunia Local
NaiDunia Local