Green Action Week Campaign: रायपुर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। ग्रीन एक्शन वीक अभियान के तहत शेयरिंग कम्युनिटी कार्यक्रम के अनुभवों को साझा करने के लिए होटल मयूरा रायपुर में एक दिवसीय स्टेक होल्डर कार्यशाला का आयोजन किया गया। अनमोल फाउंडेशन द्वारा कट्स इंटरनेशनल जयपुर के सहयोग से कार्यक्रम की शुरुआत करते हुए फाउंडेशन के निदेशक संजय शर्मा ने ग्रीन एक्शन वीक अभियान 2021 तथा शेयरिंग कम्युनिटी कार्यक्रम के बारे में चर्चा करते हुए, ठोस अवशिष्ट प्रबंधन, पेपर बैग, किचन वेस्ट प्रबंधन, ई वेस्ट प्रबंधन, प्लास्टिक के प्रयोग को बंद करने के संबंध में जानकारी देते हुए बताया की इस अभियान से लोग जुड़कर अब घरेलू कचरों का अलग तरह से प्रबंधन करने लगे हैं ।

शेयरिंग कम्यूनिटी पारंपरिक परंपरा

कार्यक्रम में मुख्य अतिथि छत्तीसगढ़ पर्यटन मंडल की उपाध्यक्ष चित्रलेखा साहू ने कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा कि शेयरिंग कम्यूनिटी हमारी पारंपरिक परंपरा है। जरूरत की चीजों के लिए गांवों में आज भी लोग एक दूसरे से सहयोग लेकर काम चलाते हैं। इससे आपसी भाईचारा बना रहता है और खपत पर भी नियंत्रण रहता है। गांवों में लोग जरूरत के हिसाब से ही खरीददारी करते है । जबकि शहरों में लोग आवश्यकता से अधिक समान की खरीदारी करते हैं।

इस दौरान भिलाई स्टील प्लांट के पूर्व जनरल मैनेजर वेंकट सुब्रमण्यम मौजूद रहे। इंडस्ट्री में हो रहे रोजाना खनिज की खपत पर चिंता जाहिर करते हुए कहा कि अब प्लांट में भी नए तकनीक की मदद से कम खपत में उत्पादन लेने का प्रयास किया जा रहा है। इंडस्ट्री में बेकार सामानों को पुनः उपयोग पर कार्य किया जा रहा है। हेल्पेज इंडिया के राज्य प्रमुख शुभांकर विस्वास ने शेयरिंग कम्युनिटी का प्रयोग पुनः किया जाना जरूरी है जिससे पर्यावरणीय परिवर्तनों को कम किया जा सके व आने वाली पीढ़ी के भविष्य को सुरक्षित किया जा सकें।

जैविक खेती का साझा किया अनुभव

एमएसकेपीपी की अध्यक्ष हेमलता साहू ने जैविक खेती को बढ़ावा देने व उनके द्वारा किए जा रहे प्रयासों के अनुभवों को साझा किया। जनहित संस्थान के निदेशक रोहित पाटिल अपना अनुभव बताते हुए कहा कि पर्यावरण संरक्षण के साथ आजीविका को भी कैसे सुरक्षित रखते हुए महिलाएं आगे बढ़ रही हैं। कार्यक्रम में जीपीआरएस की निदेशक गायत्री सिंह, ग्रीन आर्मी के अध्यक्ष पुरुषोत्तम चंद्राकर, आइजीएसएसएस से प्रेमानद ने अपने अनुभवों को साझा किया। कार्यक्रम में राज्य में कार्यरत विभिन्न स्वैच्छिक संस्थाओं व समुदाय आधारित संगठनों के प्रतिनिधि शामिल हुए।

Posted By: Ravindra Thengdi

NaiDunia Local
NaiDunia Local