रायपुर। Interview of The CBSE 12th Meritorious in Raipur: राजधानी में सीबीएसई परीक्षा परिणाम घोषित होने के बाद नईदुनिया ने मेधावी छात्र-छात्राओं से परीक्षा को लेकर उनकी तैयारियों और उनकी प्‍लानिंग के साथ ही भविष्‍य की रणनीति के बारे में जाना है। आइए जानते हैं इन छात्रों की कहानी उनकी जुबानी। एनएच गोयल स्कूल की नेत्री बैद ने कक्षा 12वीं कामर्स में 99 प्रतिशत अंक हासिल की है। नेत्री ने बताया कि पढ़ाई को कभी मजबूरी बनाकर नहीं की। पढ़ाई के साथ इंटरनेट मीडिया फेसबुक, वाट्सएप समेत यूट्यूब चलाई। नेत्री का कहना है कि पढ़ाई करने के लिए खुद ही नोट्स तैयार की, इससे भी टापिक को समझाने में आसानी हुई। साथ ही कोरोना काल में आनलाइन पढ़ाई निरंतर जारी रखीं। नेत्री ने बताया कि कोरोना महामारी के कारण परीक्षा तो नहीं हुई, लेकिन परीक्षा में बैठने के लिए तैयारी रखी थी। शुरू से उम्मीद थी इस बार परीक्षा में अच्छे अंक मिलेगा। उनका कहना है कि लक्ष्य बनाकर हम भी चीज को हासिल कर सकते है। बस इसके लिए मेहनत करना चाहिए।

आगे क्या- साइकोलाजी में पढ़ाई। आगे चलकर यूपीएससी की तैयारी।

कोरोना होने के बाद भी जारी रखीं पढ़ाई

कृष्णा पब्लिक स्कूल के अनुराग गांगुली ने अप्रैल माह में कोरोना होने के बाद पढ़ाई में बाधा आने नहीं दिया। बल्कि वे इस दौरान अपनी परीक्षा की तैयारी में लगे हुए। अनुराग बताते है कि परिवार के सभी चार सदस्य को कोरोना हो था। ऐसे समय खुद का संभालना और परिवार की देखरेख करना भी था। फिर हिम्मत नहीं हारी है। निरंतर आनलाइन पढ़ाई और रोज घर में सात घंटे पढ़ाई की। अभी कक्षा 12वीं कामर्स में 98 अंक हासिल किया है। उनका कहना है कि इंसान के पास कई तरह की मुसीबतें अाती है। उस मुसीबत को सामना करना चाहिए। पढ़ाई के साथ क्रिकेट खेलना पसंद है।

आगे क्या - दिल्ली यूनिवर्सिटी से बीकाम की पढ़ाई और सीए की तैयारी।

खाली समय में ड्राइंग पेंटिंग, रोज करती आठ घंटे की पढ़ाई

कृष्णा पब्लिक स्कूल की जूही जैन ने 12वीं कामर्स में 97.8 अंक अर्जित किया है। जूही ने बताया कि कोरोना काल में पढ़ाई स्कूल में नहीं होने के कारण निरंतर आनलाइन पढ़ाई की और रोज घर में आठ घंटे पढ़ाई करती थी। उन्होंने बताया कि जब पढ़ाई करने का मन नहीं लगता था तब ड्राइंग पेटिंग करती थी। अौर शुरू से ही इस बार अच्छे अंक के लिए पढ़ाई की। जूही का कहना है कि पढ़ाई को कभी बोझ समझकर न करें। इससे अच्छे अंक लाने से कोई नहीं रोक सकता। बता दें कि जूही के माता डा. कल्पना जैन अौर पिता डा. रमेश जैन दोनों चिकित्सक है।

आगे क्या- दिल्ली यूनिवर्सिटी से बीकाम की पढ़ाई और सीए की तैयारी।

आनलाइन पढ़ाई पर दिया जोर, ताकि स्कूल जाने की कमी न खले

कृष्णा पब्लिक स्कूल के देव मुखर्जी ने कक्षा 12वीं साइंस में 97.6 अंक हासिल किया है। देव बताते है कि कक्षा 10वीं से टारगेट लेकर चल रहे है कक्षा 12वीं में 95 फीसद से अंक लाना है। उसके अनुसार 10वीं से खुद हो तैयार कर लिया है। वहीं 12वीं की परीक्षा के दौरान कोरोना महामारी के कारण परीक्षा जरूर नहीं हो पाया। उसका कमी खलल रहा है, लेकिन अभी 97.6 अंक से मिलने से खुशी है। देव कहना है कि कभी नहीं सोचे थे कि इस बार परीक्षा नहीं होगी। हम परीक्षा देने की तैयारी की। उनका कहना है कि पढ़ाई को कभी बोझ समझकर नहीं करना है चाहिए। बल्कि लक्ष्य निर्धारित करके पढ़ाई करना चाहिए। इससे सफलता मिलती है।

आगे क्या- जीईई एंडवास की तैयारी।

नोट्स बनाकर की तैयारी, मिली 97.6 फीसद अंक

कृष्णा पब्लिक स्कूल की मनशा कोचर ने कक्षा 12वीं में 97.6 फीसद अंक हासिल किया है। पढ़ाई को नोट्स बनाकर की है। शुरू से परीक्षा में बैठने के लिए तैयारी की, लेकिन कोरोना महामारी के कारण यह अधूरा रह गया। मनशा का कहना है कि पढ़ाई करने के लिए एक निश्चित टाइम टेबल बनाकर की है। जहां किसी भी टापिक समझ में नहीं अाती तो सीधे शिक्षकों से मदद लेती थी। इंटरनेट मीडिया यूट्यूब से पढ़ाई की है। मनशा का कहना है कि पढ़ाई को एक तय समय पर करने चाहिए।

आगे क्या - आइटी मुंबई से कम्प्यूटर साइंस की पढ़ाई के लिए जेईई एंडवास की तैयारी।

Posted By: Kadir Khan

NaiDunia Local
NaiDunia Local