रायपुर। Kidney Disease किडनी की बीमारियों से पीड़त लोगों की संख्या लगातार बढ़ रही है। यूरोलॉजी विशेषज्ञ डॉ. पंकज महेश्वरी फोर्टिस मुंबई मुताबिक सर्वाधिक मरीज पथरी से पीड़ित हैं और कई प्रोस्टेट कैंसर से। इसकी वजह है तंबाकू उत्पाद का सेवन और अत्यधिक धूम्रपान। सिगरेट के मात्र छह कश से भी किडनी फेल हो रही है।

प्रोस्टेट कैंसर जानलेवा नहीं, लेकिन उपचार जरूरी

डॉ. पंकज ने बताया कि प्रोस्टेट कैंसर जानलेवा नहीं है, लेकिन नियमित उपचार नहीं करवाया गया तो अन्य बीमारियों की गिरफ्त में आ सकते हैं। प्रोस्टेट कैंसर तंबाकू का नियमित सेवन करने वालों को होता है। पेशाब की थैली में मस्से की तरह बहुत से दाने हो जाते हैं। इससे पेशाब रुकने लगती है, इसकी नियमित जांच कराई जाए तो दवाइयों से दूर किया जा सकता है। जांच नहीं होने पर पस्से की संख्या बढ़ जाती है। पेशाब रुकने लगती है और किडनी फेल होने की संभावना बढ़ जाती है।

टमाटर, पालक के बजाय नमक करें कम, पथरी से मिलेगी मुक्ति

अहमदाबाद के डॉ. कंदर्भ पारिख के मुताबिक पथरी होने पर बहुत से मरीज अंधविश्वास पाल लेते हैं। कई टमाटर और पालक खाना छोड़ देते हैं, लेकिन ये ठीक नहीं। आप दिन भर में कितना टामाटर खा लेंगे जो पथरी को बढ़ा देगा। पथरी होने का मुख्य कारण होता है नमक का अत्यधिक सेवन। उसके बाद तम्बाकू का सेवन। इसके अलावा पापड़, चटनी और अचार। ये चीजें शरीर के पानी की मात्रा को कम कर देती हैं। इससे पथरी होने की संभावना बढ़ जाती है।

पेशाब अधिक होने का मतलब किडनी स्वस्थ

सामान्यतः कई लोग अधिक से अधिक पानी पीने लगते हैं, लेकिन पेशाब उस मात्रा में नहीं होती, जो बीमारी का कारण है। आपको रोजाना देखना होगा कि आप कितनी बार पेशाब जाते हैं। आप यदि सात से आठ बार पेशाब जाते हैं और पेशाब पानी की तरह साफ है मतलब आपकी किडनी स्वस्थ्य है।

Posted By: Sandeep Chourey

fantasy cricket
fantasy cricket