रायपुर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। New Course: साधना संस्थान द्वारा शनिवार रेजिन से खूबसूरत कलाकृतियां सिखाने के लिए कार्यशाला आयोजित की गई। कार्यशाला में आर्टिस्ट संचल भोजवानी ने महिलाओं को रेजिन आर्ट से साधारण ट्रे से लेकर उम्दा घड़ियां बनाना सिखाया गया। इस कार्यशाला में 30 महिलाओं ने हिस्सा। जिन्हें रेजिन आर्ट बनाने के साथ उसकी बारीकियों से अवगत कराया।

संस्था की साधना ढ़ांढ ने बताया कि पिछले 40 सालों से फाइन आर्टस और हाबी क्लास चला रही हैं। पिछले तीन सालों से फाइन आर्ट्स में आर्ट एंड एप्रीसिएशन डिप्लोमा कोर्स भी चालू किया गया है, जो इंदिरा कला संगीत विश्वविद्यालय खैरागढ़ से मान्यता प्राप्त हैं। इसके साथ उनका प्रयास है कि विद्यार्थी कला के नए क्षेत्रों को भी जाने और प्रगति करें। इसके लिए अलग-अलग तरह की वर्कशाप लगाए जा रही हैं।

नई तरह की कला और विद्याएं सीख कर बच्चे अपना काम शुरू कर सकते हैं। रेजिन आर्ट भी इसी तरह का नया कोर्स है, इससे आगे विद्यार्थियों को बहुत फायदा होगा। इसी तरह आगे भी कई वर्कशाप लगाए जाएंगे। उन्होंने कहा कि कला की कोई सीमा नहीं, समय के साथ नई कलाएं अपने नए कलेवर के साथ आती हैं, जिसे प्रोत्साहन की जरूरत है।

कलाकार अपनी कल्पना से कला के कई आयाम तैयार कर सकता है। आर्टिस्ट संचल ने बताया कि रेजिन आर्ट में कई तरह की सावधानी रखने की जरूरत है, लेकिन बनने के बाद यह बहुत ही खूबसूरत लगता है। इससे छोटे-छोटे ज्वेलरी, सजावटी समान के साथ उपयोग में लाए जाने वाले सामान जैसे ट्रे, टेबल भी बनाए जा सकते हैं। इसमें रेजिन, रंगों और एडेसिव का उपयोग किया जाता है।

Posted By: Shashank.bajpai

NaiDunia Local
NaiDunia Local