रायपुर(नईदुनिया प्रतिनिधि)। छत्‍तीसगढ़ की राजधानी रायपुर के गुढ़ियारी इलाके में हिंदुओं के धार्मिक स्थलों पर जाकर नमाज पढ़ने वाले उत्तर प्रदेश के एक व्‍यक्ति लोगों ने पकड़कर पुलिस के हवाले कर दिया। आरोप है कि वह शहर में घूम-घूमकर हिंदू धार्मिक स्थलों पर नमाज पढ़ रहा था। पुलिस ने हिरासत में लेकर उससे पूछताछ की तो उसने साफ-सुथरे जगह पर नमाज पढ़ना स्वीकार किया है। लोगों द्वारा किए गए शिकायत के आधार पर पुलिस ने मामले में अपराध कायम कर आरोपित को जेल भेज दिया।

गुढ़ियारी पुलिस थाने से मिली जानकारी के अनुसार गुढ़ियारी के पूर्व पार्षद प्रीतम सिंह ठाकुर ने लिखित शिकायत की है कि गुरुवार की सुबह 6.30 बजे घर से लगे माता जनरल स्टोर के सामने कोटा रोड में दो दिन पहले रामनगर में किराए के मकान में रहने वाले असलम खान (47) ने आकर बच्चों को धमकाने के साथ ही यह कहता था कि हिंदू लोग हमारे मजार में हनुमान चालीसा पढ़ते है तो हम भी आपके दुकान,घर,मंदिर में जाकर नमाज पढ़ेगे। इसके बाद वह वहां पर नमाज पढ़ने लगा।

आसपास के लोगों ने यह देखकर आपत्ति जताते हुए उसे पकड़ लिया। इसके बाद पुलिस को सूचना दी गई। मौके पर पहुंची पुलिस असलम को लेकर थाने आ गई। पूछताछ में उसने धार्मिक झंडे लगे होने वाले सभी स्थानों पर नमाज पढ़ने की बात स्वीकार की। मूलत: उत्तर प्रदेश के मेरठ निवासी असलम की वजह से माहौल खराब होने की आशंका पर पुलिस ने मामले में धारा 295 ए के तहत अपराध कायम कर लिया।

गुढ़ियारी पुलिस थाना प्रभारी विनित दुबे ने बताया कि इलाके में किसी तरह की अप्रिय स्थिति न हो,इसे ध्यान में रखकर असलम खान के खिलाफ अपराध कायम कर उसे जेल भेजा गया। वह पिछले सात महीने से यहां फेरी लगाकर कपड़े, चादर आदि बेचने का काम करता आ रहा था। उसकी मानसिक स्थिति ठीक है।

कई बैंक चेक मिले : पुलिस ने बताया कि असलम मंदिर में कई चेक लेकर घुसा था।किसी चेक में 1000, 50,000 तो किसी में 1,00,0000 रकम लिखी हुई थीं। चेक पर मोहम्मद असलम लिखा हुआ है और पता मेरठ का है। रामनगर इलाके की मस्जिद के पास एक किराए का मकान लेकर वह पिछले कई महीने से रह रहा था।बुधवार को भी कुछ लोगों के घर और दुकान के बाहर उसने नमाज पढ़ने की कोशिश की थी। चेक को वह मंदिर के लोगों को दे रहा था। कोटा इलाके के बैकुंठ धाम मंदिर में भी उसने प्रवेश किया था, जिससे विवाद के हालात बने थे। पूछताछ के दौरान अजीब हरकतें करने लगा। पुलिस के सवालों के जवाब भी नहीं दे रहा था।

Posted By: Ashish Kumar Gupta

NaiDunia Local
NaiDunia Local