जिले की सीमा से लगे महाराष्ट्र के साल्हेकसा-दर्रेकसा के बीच गुरुवार को सुबह साढ़े पांच बजे एक मालगाड़ी पटरी से उतर गई। इससे यात्री गाड़ियों के पहिए थम गए। दुर्ग-तारसा पैसेंजर ट्रेन को डोंगरगढ़ में ही रद कर दिया गया। निपनिया लोकल भी रद करनी पड़ी। इससे यात्रियों को परेशानियों का सामना करना पड़ा। बताया गया कि मालगाड़ी नागपुर की ओर जा रही थी।

रेलवे प्रशासन घटना की जांच कर रहा है।बोरतलाव स्टेशन से आगे बढ़ने के बाद जैसे ही दर्रेकसा स्टेशन से मालगाड़ी निकली, उसके कुछ दूर में एक वैगन पटरी से उतर गई। डी-रेल होने से डाउन दिशा की ट्रेनों की आवाजाही पर असर पड़ा। मालगाड़ी पटरी से उतरने के कारण निपनिया समेत दो लोकल ट्रेनें रद रही। वहीं राजनांदगांव स्टेशन में तारसा पैसेंजर ट्रेन दो घंटे तक खड़ी रही। इसे डोंगरगढ़ तक ही चलाई गई। जिसके चलते यात्रियों को बड़ी परेशानियों का सामना करना पड़ा।

सुधार कार्य के चलते रात आठ बजे के आसपास एक एक्सप्रेस ट्रेन मुसरा स्टेशन के आसपास करीब डेढ़ घंटे तक रुकी रहीं। डी-रेल की घटना के बाद तकनीकी टीम भी मौके पर पहुंची। टेक्निकल टीम घंटों मशक्कत करती रही। देर शाम तक मरम्मत कार्य चलता रहा। डी-रेल होने से दोनों स्टेशनों के बीच का आवाजाही कुछ घंटों के लिए प्रभावित हुई। परेशानियों का सामना करना पड़ा। सुधार कार्य के चलते रात आठ बजे के आसपास एक एक्सप्रेस ट्रेन मुसरा स्टेशन के आसपास करीब डेढ़ घंटे तक रुकी रहीं। मौके पर पहुंची तकनीकी टीम डी-रेल की घटना के बाद तकनीकी टीम भी मौके पर पहुंची। टेक्निकल टीम घंटों मशक्कत करती रही। देर शाम तक मरम्मत कार्य चलता रहा। डी-रेल होने से दोनों स्टेशनों के बीच का आवाजाही कुछ घंटों के लिए प्रभावित हुई।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local