सुकमा । ये तस्वीरें है छत्तीसगढ़ के नक्सल प्रभावित सुकमा जिले के पालमअड़गु इलाके की, जहां कभी लाल आतंक के कारण तिरंगा फहराया नहीं पाया था। लेकिन शनिवार को गणतंत्र दिवस पर इस इलाके में लोगों ने पहली बार तिरंगा लहराते हुए देखा।

सुरक्षा बलों ने साहस दिखाते हुए नक्सलियों की मांद में घुसकर उन्हें चुनौती दी। गौरतलब है है अभी तक हर वर्ष जहां देश में तिरंगा लहराया जाता था, वहीं इस इलाके में नक्सली काला झंडा फहराते थे। पालमअड़गु पूरी तरह से हार्डकोर नक्सली इलाका है। हाल ही में संपन्न हुए विधानसभा चुनाव के दौरान भी मतदान केंद्रों को नक्सलियों ने माओवादी नारों से रंग दिया था।

शनिवार को यहां ग्रामीणों के साथ गणतंत्र का त्यौहार मनाने सीआरपीएफ 74 वाहिनी के जवान व जिला बल के जवान पहुंचे और तिरंगा फहराया और मिठाई का वितरण किया।

- पालमअड़गु नक्सलियों का कोर जोन है, वहां ग्रामीणों के साथ तिरंगा फहराया गया और लोगों के साथ अपील की कि गनतंत्र को छोड़कर गणतंत्र के साथ आए ताकि समाज और विकास की राह में जुड़े, जिससे क्षेत्र का विकास हो सके - प्रवीण कुमार, कमांडेंट, सीआरपीएफ

Posted By:

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस