Veteran Actress Jayanthi Dies: गुजरे जमाने की अदाकारा जयंती का निधन हो गया है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, नींद में ही उनकी मृत्यु हो गई। Actress Jayanthi ने सैकड़ों फिल्मों में अभिनय किया है। उन्होंने पांच भाषाओं में काम किया, खासकर कन्नड़ फिल्म उद्योग में उन्हें खासी सफलता मिली। कन्नड में उन्हें अभिनय की देवी के नाम से जाना जाता था। Actress Jayanthi के बेटे कृष्ण कुमार ने बैंगलोर में उनकी मृत्यु की खबर की पुष्टि की और बताया कि वे लंबे समय से बीमार चल रही थीं। अभी हालात में सुधार था, लेकिन सोमवार को नींद में ही उनका निधन हो गया।

Actress Jayanthi को कन्नड़, तमिल, तेलुगू, मलयालम और हिंदी फिल्मों में किए गए काम के लिए जाना जाएगा। उनके अच्छे स्वभाव की आज भी चर्चा होती है। वह अपने साथियों, सहकर्मियों और इंडस्ट्री के जूनियर्स के साथ बेहद मिलनसार थीं। उनसे बात करते हर कोई खुश हो जाता था। वह दक्षिण भारत में सबसे अधिक मांग वाली अभिनेत्रियों में से एक थीं। उन्होंने एमजी रामचंद्रन और कन्नड़ सुपरस्टार डॉ राजकुमार के साथ अभिनय किया है।

76 वर्षीय जयंती ने सात बार कर्नाटक राज्य फिल्म पुरस्कार और दो बार फिल्मफेयर पुरस्कार जीते हैं। उन्होंने अपने दौर के शीर्ष सितारों के साथ काम किया है। यही नहीं उन्होंने युवाओं के साथ भी काम किया और हमेशा अपने अभिनय से स्क्रीन पर जलवा बिखेरा है। जयंती के सहयोगियों का कहना है कि वे अपने अभिनय और स्वभाव के कारण अमर रहेंगी।

पिछले साल वेंटिलेटर पर चला था इलाज: Actress Jayanthi पिछले साल गंभीर बीमार हो गई थीं। बेंगलुरू के एक अस्पताल में उनका इलाज चला था और उन्हें वेटिंलेटर पर भी रखना पड़ा था। सांस में तकलीफ के बाद उन्हें अस्पताल में भर्ती करवाया गया था। तब कोरोना टेस्ट भी हुआ था, जिसकी रिपोर्ट निगेटिव आई थी।

जयंती ने कन्नड़ सिनेमा में अपनी शुरुआत जेनु गुडू (1963) फिल्म से की थी। कस्तूरी निवास, मिस लीलावती, श्री कृष्णदेवराय और एडकल्लु गुड्डा मेले उनकी चर्चित फिल्में हैं।

Posted By: Arvind Dubey